Join WhatsApp

News-web

मानसून में होंगे बाबा केदार के दर्शन या श्रद्धालुओं की बढ़ेगी टेंशन,हेलीकॉप्टर सेवा पर बना यह प्लान

चारधाम यात्रा के शुरु से ही भक्तों की भारी भीड़ उमड़ रही है। बदरीनाथ, गंगोत्री, यमुनोत्री समेत चारों धामों में से केदारनाथ धाम में सबसे अधिक भक्त दर्शन करने के लिए पहुंच रहे हैं। आईएमडी की तरफ से उत्तराखंड में मॉनसून के दस्तक देने का भी पूर्वानुमान जारी कर दिया गया है।ऐसे में अब श्रद्धालुओं के मन में यह सवाल जरूर उठ रहा होगा कि बरसाती मौसम में केदारनाथ हेलीकॉप्टर सेवा संचालित होंगी या नही? भक्तों की भारी भीड़ को देखते हुए सरकार ने केदारनाथ हेली सेवा पर बड़ा फैसला लिया है।

केदारनाथ के लिए बरसाती सीजन में हेलीकॉप्टर सेवाओं को रोटेशन के आधार पर संचालित किया जाएगा। इस समय 7 कंपनियां केदारनाथ में हेली सेवाएं दे रही है। 20 जून से इन हेली सेवाओं का संचालन बंद कर दिया जाएगा।हेलीकॉप्टर कंपनियां यात्रियों की संख्या में कमी और सुरक्षा की दृष्टि से दो महीने के लिए वापस लौट जाएंगी।इस यात्रा सीजन में 17 जून तक केदारनाथ धाम में रिकार्ड 904395 यात्रियों ने बाबा केदार के दर्शन किए हैं। एक लाख से अधिक यात्रियों ने हेलीकॉप्टर सुविधा का लाभ लिया है।

जिला पर्यटन अधिकारी राहुल चौबे ने बताया कि 20 जून से 7 हेलीकॉप्टर कम्पनियां बरसात के चलते वापस लौट जाएंगी। दो कंपनियों की सेवाएं मानूसन में चलती रहेंगी।हिमालय हेली की सेवाएं बरसातभर जारी रहेंगी। 10 जुलाई से दोनों कम्पनियां अपने अपने हेलीपैडों से केदारनाथ के लिए सेवाएं देती रहेंगी। जबकि इसके बाद सितम्बर से 7 अन्य हेलीकॉप्टर कम्पनियां भी पुन सेवाएं देने लगेंगी।मौसम विज्ञान केंद्र के निदेशक बिक्रम सिंह ने बताया कि इस बार प्री-मानसून में अच्छी बारिश की स्थिति बन रही है। उम्मीद है कि उत्तराखंड में 23 जून से प्री-मानसून की बारिश शुरू हो जाएगी।

इसके अगले दिन बारिश पूरे कुमाऊं क्षेत्र के साथ हरिद्वार तक के इलाके को कवर कर लेगी।उत्तराखंड में 23 जून से 25 जून तक के लिए मौसम का जो पूर्वानुमान है, अगर उन्हीं परिस्थितियों के अनुसार बारिश में अपेक्षित तेजी आती है तो यहां मानसून 25 जून के बाद कभी भी सक्रिय हो सकता है।