Uttarayani mela

Uttarayani mela 2021 started in Bageshwar

बागेश्वर। कुमाऊं के प्रसिद्ध उत्तरायणी मेले (Uttarayani mela) का आगाज हो गया है। इस वर्ष मेला कोरोना संक्रमण के कारण अधिक भव्य रूप में आयोजित नहीं किया जा रहा है। जानकारी के अनुसार मेले के दौरान केवल धार्मिकी अनुष्ठान ही आयोजित किये जा रहे है।

अल्मोड़ा (Almora) में इस शिला में मूर्छित होकर गिर पड़े थे स्वामी विवेकानंद, एक मुस्लिम फकीर ने की थी उनकी मदद

शुभारंभ के अवसर पर जिला प्रशासन, वरिष्ठ नागरिक एवं जनप्रतिनिधियों के संयुक्त तत्वाधान में कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए सत्याग्रह तथा कुली बेगार प्रथा के 100 वर्ष पूर्ण होने पर जागरूकता रैली का आयोजन किया गया। मुख्य अतिथि विधायक बागेश्वर चन्दन राम दास, जिलाधिकारी विनीत कुमार, पुलिस अधीक्षक मणिकांत मिश्रा एवं अध्यक्ष नगर पालिका बागेश्वर सुरेश खेतवाल द्वारा हरी झण्डी दिखाकर तहसील परिसर बागेश्वर से रैली को रवाना किया गया।

विधायक बागेश्वर चन्दन राम दास ने कहा कि उत्तरायणी मेला ऐतिहासिक (Uttarayani mela), पौराणिक एवं धार्मिक आस्था का प्रतीक है। जिसमें लोक पुण्य अर्जित करने के लिए बाबा बागनाथ की धार्मिक स्थल पर एकत्र होते है।

इस अवसर पर गोष्ठी का आयोजन भी किया गया, जिसमें कुली बेगार प्रथा को समाप्त करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने वाले बद्री दत्त पाण्डे के पोत्र सेवानिवृत्त कर्नल रविन्द्र पाण्डेय, अध्यक्ष वरिष्ठ नागरिक रणजीत बोरा, जिला अध्यक्ष भाजपा शिव सिंह बिष्ट, इन्द्र सिंह परिहार, कुन्दन सिंह रावत, शैलेन्द्र सिंह धपोला आदि ने कुली बेगार प्रथा के 100 वर्ष पूर्ण होने पर अपने विचार व्यक्त किये।

बदहाल सड़क (Damaged road)- ग्रामीणों का सब्र टूटा, किया प्रदर्शन

कार्यक्रम का संचालन वरिष्ठ नागरिक/अध्यक्ष बार एशोसिऐशन गोविन्द सिंह भण्डारी ने किया। इस अवसर पर पूर्व विधायक ललित फस्र्वाण, ब्लॉक प्रमुख बागेश्वर पुष्पा देवी, मुख्य विकास अधिकारी डी0डी0 पंत, उप जिलाधिकारी योगेन्द्र सिंह, पुलिस उपाधीक्षक विपिन चन्द्र पंत आदि मौजूद रहे।

कृपया हमारे youtube चैनल को सब्सक्राइब करें

https://www.youtube.com/channel/UCq1fYiAdV-MIt14t_l1gBIw/