उत्तरा न्यूज
अभी अभी अल्मोड़ा उत्तराखंड चम्पावत देहरादून नैनीताल हरिद्वार

बड़ी खबर- कोरोना की आहट के बीच उत्तराखंड सरकार ने जारी की SOP

खबरें अब पाए whatsapp पर
Join Now

देहरादून। देश में एक बार फिर से कोरोना संक्रमण की आहट दिख रही है। अब कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए उत्तराखंड सरकार ने भी आवश्यक दिशानिर्देश SOP जारी कर दिए हैं। स्वास्थ्य सचिव आर राजेश कुमार ने ओर से जारी दिशानिर्देशों के अनुसार चिकित्सालयों में आने वाले सभी Influenza like ittness (ILI) / Severe Acute Respiratory llness ( SARI) के रोगियों की कोविड- 19 जांच की जाये एवं उक्त सभी रोगियों का विवरण अनिवार्य रूप से आई०डी०एस०पी० के अंतर्गत Integrated Health Information Platform (IHIP) पोर्टल में प्रविष्ट किया जाये। इसके साथ ही आम जनमानस में कोविड-19 से बचाव हेतु कोविड एप्रोप्रियेट व्यवहार के प्रति जागरूकता हेतु विभिन्न माध्यमों से व्यापक प्रचार-प्रसार किया जाये। त्योहारों के सीजन में भीड-भाड़ वाले स्थानों पर लोगो को मास्क का उपयोग किये जाने हेतु प्रेरित किया जाये।

इसके साथ ही भारत सरकार के दिशा निर्देशों के अनुसार कोविड-19 टीकाकरण कवरेज को बढ़ाया जाये पूर्ण कोविड़ 19टीकाकरण के लिए आम जनता को नियमित रूप से प्रेरित करने हेतु जागरूकता की जाये हाई रिस्क आबादी मेंअनिवार्य रूप से टीकाकरण पूर्ण किया जाये। चिकित्सा ईकाइयों में कोविड़ – 19 संक्रमित रोगियों के उपचार हेतु पर्याप्त मात्रा में आक्सीजन सिलेण्डर, आक्सीजन कसंनट्रेटर, आक्सीजन बेड, वेंटिलेटर, आई०सी०यू० बेड एवं आवश्यक औषधियों की उपलब्धता सुनिश्चित की जाये। सम्बन्धित चिकित्सा इकाईयों में स्थापित ऑक्सीजन जनरेशन प्लांट की क्रियाशीलता सुनिश्चित की जाये।

दैनिक रूप से राजकीय एवं निजी चिकित्सा इकाईयों में कोविड-19 संक्रमित भर्ती रोगियों की सूचना प्राप्त की जाये एवं रोगियों के स्वास्थ्य दशा की निरन्तर निगरानी करते हुये समीक्षा की जाये। यह सुनिश्चित किया जाये कि कोविड- 19 संक्रमित रोगियों को ससमय पूर्ण उपचार प्राप्त हो। हल्के लक्षण वाले कोविद्ध-19 संक्रमित रोगियों को होम आईसोलेशन में ही उपचार प्रदान किया जाये एवं निरन्तर उनके स्वास्थ्य स्थिति की निगरानी की जाये। ऐसे रोगियों में किसी भी प्रकार के गम्भीर लक्षण होने पर शीघ्र हीं उन्हें सम्बन्धित चिकित्सालय में संदर्भित किया जाये। कोविड-19 जॉच हेतु आई०सी०एम०आर०, भारत सरकार के दिशा निर्देशों का पालन किया जाये। समुदाय स्तर पर यदि किसी जगह कोविड- 19 फीवर अथवा ILI / SARI कैस की क्लस्टरिंग मिलती है तो वहां पर त्वरित जांच सुविधा की उपलब्धता एवं निरोधात्मक कार्यवाही की जाये। कोविड- 19 जॉच में RTPCR द्वारा पॉजिटिव पाए गए सभी रोगियों के सैंपल Whole Genome Sequence (WGS) जांच हेतु राजकीय दून मेडिकल कॉलेज को प्रेषित किये जाएं एवं wGs जांच हेतु प्रेषित सभी सैंपलों की सूचना अनिवार्य रूप से आई०डी०एस०पी० के अंतर्गत Integrated Health Information Platform (IHIP) पोर्टल में प्रविष्ट किया जाये।

Related posts

यूरोप को गैस की आपूर्ति में रूस कर रहा कटौती

Newsdesk Uttranews

लॉक डाउन (Lock down): मरीज बन कर जांच को पहुंचे एसपी, लापरवाही बरतने पर दरोगा सस्पेंड (Suspend)

UTTRA NEWS DESK

संयुक्त राष्ट्र के विशेषज्ञ ने ब्रिटेन की रवांडा शरण योजना की आलोचना की

Newsdesk Uttranews