News-web

अगर आप भी डार्क सर्कल की वजह से है परेशान तो हफ्ते में 3 दिन जरूर अपनाएं ये नुस्खा

By editor1

Published on:

Security departments

दिल्ली। हर कोई अपने चेहरे को चमकाने की कोशिश करता है ऐसे में दिन भर की थकान से लोगों को समय नहीं मिल पाता है कि खुद की चेहरे पर ध्यान दे सके। स्किन की समस्या से अगर आप भी है परेशान खासकर आंखों के नीचे काले घेरे यानी dark circles एक बड़ी समस्या है। कम नींद लेना और ज्यादा mobile का use करना इसका सामान्य कारण हो सकता है। डार्क सर्कल न सिर्फ महिलाओं बल्कि पुरुषों के लिए भी परेशान करते है। Health experts कहते हैं कि ज्यादा तनाव लेना, कम सोना, पानी कम पीना और hormones में बदलाव के चलते डार्क सर्कल होने लगते हैं।

आपने देखा होगा कि जब आंखों की नीचे काले घेरे हो जाते हैं तो यह हमें थका हुआ और बूढ़ा दिखाते हैं। अगर आप भी डार्क सर्कल से परेशान हैं तो दूध का इस्तेमाल करके इस समस्या से छुटकारा पा सकते हैं, क्योंकि dark circle के इलाज के लिए दूध बहुत फायदेमंद है। इसमें त्वचा को लाइट करने वाले गुण होते हैं। आइए जानते हैं कि डार्क सर्कल हटाने के लिए दूध का उपयोग कैसे कर सकते है। (नोट- यह उपाय सुझाव मात्र है।)

ऐसे हटाएं आंखों के नीचे मौजूद काले घेरे – How to remove dark circles under eyes

  1. पहला तरीका
    एक बाउल में थोड़ा ठंडा दूध लें।
    अब इसमें दो रुई के गोले भिगो दें।
    कॉटन बॉल्स को आंखों के ऊपर इस तरह रखें कि ये डार्क सर्कल्स को कवर कर ले।
    इन्हें 20 मिनट के लिए छोड़ दें।
    अब कॉटन बॉल्स को हटा दें।
    फिर चेहरे को ताजे पानी से धो लें।
    हर दिन तीन बार इसे दोहरा सकते हैं।
  2. दूसरा तरीका
    ठंडे दूध में थोड़ा सा बादाम का तेल मिलाएं.
    तैयार हुए इस मिश्रण में दो कॉटन बॉल्स डुबोएं।
    कॉटन बॉल्स को आंखों पर इस तरह रखें कि ये डार्क सर्कल्स को कवर कर ले।
    15-20 मिनट के लिए इसे लगा रहने दें।
    इसके बाद ताजे पानी से धो लें।
    इस उपाय को हर दूसरे दिन दोहरा सकते हैं।
  3. तीसरा तरीका
    ठंडा दूध और गुलाब जल को बराबर मात्रा में मिलाएं।
    फिर इस मिश्रण में दो कॉटन पैड भिगोएं।
    इसके बाद इन्हें अपनी आंखों के ऊपर रखें।
    इससे डार्क सर्कल्स को कवर कर लें।
    इसे 20 मिनट तक लगा रहने दें।
    कॉटन पैड निकालें और ताजे पानी से धो लें।
    काले घेरे हटाने के लिए इस प्रक्रिया को दूध के साथ हर हफ्ते 3 बार दोहरा सकते हैं।