घास काटने जंगल गई महिला पर बाघ ने किया हमला , साथी महिलाओं ने बहादुरी दिखाते हुए बचाई जान

उत्तरा न्यूज डेस्क
2 Min Read

हर दिन बाघ के हमले की घटनाएं सामने आ रही है। वही उत्तराखंड के टनकपुर में एक महिला पर बाघ ने जानलेवा हमला कर उसे घायल कर दिया। महिला के साथ गई अन्य साथी महिलाओं ने बहादुरी दिखाते हुए शोर मचाना शुरू कर दिया। हल्ला सुन बाघ डर से वहां से भाग गया। जिसके बाद दोनो महिलाओं ने घायल महिला को अस्पताल पहुंचाया।

यह घटना टनकपुर के उचौलीगोठ की है। महिलाएं घास लेने किए जंगल गई हुई थी। तभी घात लगाए बाघ ने गीता देवी हमला बोल दिया। तभी पार्वती और जानकी देवी ने अपनी साथी की जान बचाने के लिए शोर मचाना शुरू कर दिया। साथ ही बाघ पर पत्थर व लकड़ियों से हमला करना शुरू कर दिया। जिस पर बाघ डर से वहां से महिला को छोड़ भाग गया।

बाघ के भागने के बाद जानकी व पार्वती साथी गीता देवी को गंभीर स्थिति में देखा। और ग्रामीणों की सहायता से नजदीकी अस्पताल लेकर गए। जहां पर गीता देवी के सिर पर 21 टांके लगाए गए। फिलहाल गीता खतरे से बाहर बताई जा रही है। लेकिन फिर भी बेहतर उपचार के लिए डॉक्टरों ने गीता देवी के सुशीला तिवारी अस्पताल रेफर किया। वहीं जानकी और पार्वती को उनकी बहादुरी से अपनी साथी गीता को बचाने के लिए सीएम धामी ने उन्हें सम्मानित भी किया।

Joinsub_watsapp