News-web

घाटकोपर होल्डिंग हादसे के आरोपी को लेकर किया गया यह चौंकाने वाला खुलासा 

Published on:

देश की आर्थिक राजधानी मुंबई के घाटकोपर में हुई होल्डिंग दुर्घटना में अब तक 17 लोगों की मौत हो चुकी है। अब इसी बीच इस मामले की जांच और आगे बढ़ गई है।एक के बाद अब इसमें नए खुलासी हो रहे हैं अब तक पता चला है कि गिरफ्तार किया जा चुके दुर्घटना के आरोपी भावेश भिंडे पर नियमों के उल्लंघन में BMC लगभग 100 बार जुर्माना लगा चुकी है।

आपको बता दे की भावेश इगो मीडिया के डायरेक्टर हैं इस एजेंसी ने ही मुंबई के घाटकोपर में पेट्रोल पंप पर अवैध विशाल होल्डिंग लगाया था जिसके बाद धूल भरी आंधी से इस होल्डिंग के गिरने के बाद 17 लोगों की जान चली गई। मामले की हकीकत पता करने के बाद क्राइम ब्रांच को पता चला कि बृहन्मुंबई नगर निगम (BMC) ने भावेश भिंडे को अवैध होर्डिंग लगाने या उनके आकार एवं नियमों का उल्लंघन करने के लिए 100 से अधिक बार नोटिस जारी किया था। इस के चलते आरोपी पर जुर्माना भी लगाया गया था।

पुलिस यह भी मानकर चल रही है कि अपराधी ने एक ऐसी कंपनी के माध्यम से काम करना आरम्भ कर दिया था, जो उसने किसी और के नाम पर रजिस्टर करा रखी थी। ऐसा इसलिए भी, क्योंकि भावेश भिंडे को कई नागरिक ऐजेंसियों ने ब्लैकलिस्ट कर रखा था। मुंबई के क्राइम ब्रांच के अफसर का कहना है कि घाटकोपर मामले के अतिरिक्त भावेश पर कई सारे और भी मामले दर्ज हैं इतना ही नहीं आरोपी के खिलाफ बलात्कार जैसे संगीन मामले समेत लगभग 6 केस पहले से ही दर्ज हैं। इनमें से 4 मुलुंड पुलिस स्टेशन में तो 2 सांताक्रूज में हैं। पुलिस ने बताया, उनकी एक टीम BMC से भिंडे को जारी किए गए नोटिस तथा उस पर लगाए गए जुर्माने का पूरा विवरण इकट्ठा कर रही है। आरभिंक तहकीकात के अनुसार, भिंडे 1998 से जमाखोरी के कारोबार में था।