News-web

इस भारतीय शख्स ने तोड़ा अपना ही गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड, हाथ से नहीं नाक से टाइप करके दर्ज कराया नाम

Published on:

गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड ने एक ऐसे भारतीय व्यक्ति के बारे में पोस्ट किया है जिसने नाक से वर्णमाला टाइप करने में सबसे तेज समय का खिताब हासिल करके अपना ही रिकॉर्ड तोड़ा है।

एक्स पर एक पोस्ट में, गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड्स ने विनोद कुमार चौधरी का एक वीडियो साझा किया, जो अपनी नाक से टाइपिंग करते नजर आ रहे थे।

साल 2023 में 44 वर्षीय विनोद ने 27.80 सेकंड के समय में खिताब जीता था। उसके बाद इस वर्ष 26.73 सेकंड के समय में उन्होंने यह किताब जीता। इस बार विनोद ने 25.66 सेकंड में अपना ही पिछला रिकॉर्ड तोड़ा है। विनोद को एक मानक QWERTY कीबोर्ड पर रोमन वर्णमाला टाइप करना था, और प्रत्येक अक्षर के बीच एक स्थान टाइप करना था।

गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड्स से बात करते हुए विनोद ने कहा, ”मेरा पेशा टाइपिंग रहा है, इसलिए मैंने इसमें एक रिकॉर्ड बनाने के बारे में सोचा, जिसमें मेरा जुनून और मेरी आजीविका दोनों बनी रहे। मेरा मानना ​​है कि चाहे आप अपने जीवन में कितनी भी समस्याओं का सामना करें, आपको अपना जुनून अनंत काल तक बनाए रखना होगा।

विनोद ने कहा कि उन्हें टाइपिंग मैन ऑफ इंडिया के रूप में जाना जाता है। खिताब जीतने के लिए वह घंटे अभ्यास भी करते रहे। इस कार्य के दौरान उन्हें अक्सर चक्कर भी आ जाता था । जैसा कि गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड्स की वेबसाइट पर बताया गया है, विनोद कुमार चौधरी के नाम वर्णमाला को पीछे की ओर (एक हाथ से) टाइप करने में सबसे तेज़ समय 5.36 सेकंड और पीठ के पीछे हाथ से वर्णमाला टाइप करने में सबसे तेज़ समय 6.78 सेकंड का रिकॉर्ड भी है।