News-web

एसटीएफ ने नीट पेपर लीक केस में यूपी के विधायक को किया गिरफ्तार, जाने किस पार्टी से हैं यह

Published on:

नीट पेपर लीक मामले में चल रही जांच में हर दिन किसी न किसी को गिरफ्तार किया जा रहा है और उससे पूछताछ भी की जा रही है। हाल ही में राजस्थान से इस मामले में कुछ स्टूडेंट्स को गिरफ्तार किया गया था। अब यूपी के एक विधायक भी हिरासत में आ गए हैं।

एसटीएफ में नीट पेपर लीक मामले में विधायक बेदी राम को गिरफ्तार किया है और हैरान करने वाली बात यह है कि उन्हें गिरफ्तार करने के बाद कहा रखा गया है इसके बारे में किसी को खबर नहीं है। बताया जा रहा है कि उन्हें किसी गुप्त स्थान पर रखा गया है जो ऑनलाइन इस मामले में पूछताछ की जाएगी।

सुभासपा विधायक हैं बेदीराम

आपको बता दे की सुभासपा विधायक बेदीराम के खिलाफ लखनऊ में कई प्रकरण दर्ज हो चुके हैं। कहां जा रहा है कि रेलवे में टीटीई रहते हुए नीट भर्ती परीक्षा में पर्चा लीक होने के मामले में बेदीराम का नाम सामने आने के बाद ये कार्रवाई हुई है। इससे पहले 2014 में तत्कालीन आईजी सुजीत पांडे ने भी बेदी राम को नकल माफिया बताया था उन्होंने लखनऊ के गैंगस्टर एक्ट के तहत कार्रवाई करने की मांग भी की थी इसके बाद उन्हें गिरफ्तार किया गया था और जेल भेजा गया था बाद में रेलवे ने उन्हें बर्खास्त भी कर दिया था।

शपथ पत्र में किया था खुलासा

आपको बतादें कि सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के विधायक बेदीराम ने जब फरवरी 2022 में चुनाव लड़ने के लिए शपथ पत्र दाखिल किया था। उसमें भी खुलासा किया था कि उनके खिलाफ पुलिस भर्तीपेपर लीक मामले में करीब 8 केस दर्ज हैं। जबकि उन पर कुल 9 मामले दर्ज हैं। जिसमें से 8 मामले सिर्फ पेपर लीक मामले से जुड़े हैं। सीधे शब्दों में कहें तो पेपर लीक मामले में उनके खिलाफ कई एफआईआर भी दर्ज हो चुकी है।

प्रॉपर्टी भी हो गई कुर्क

विधायक बेदी राम के खिलाफ पहले भी कई बार कार्यवाही हो चुकी है। 2014 में जब एसटीएफ ने गैंगस्टर एक्ट के तहत उन पर कार्रवाई की थी तो लखनऊ और जौनपुर में करीब आठ प्रॉपर्टी उनकी कुर्क की गई थी। पेपर लीक के करीब आठ मामलों में पुलिस ने उनके खिलाफ चार्जशीट भी दायर कर दी है और कोर्ट में उनके खिलाफ आरोप भी तय हो चुके हैं।