Join WhatsApp Group

News-web

उत्तराखंड में तपते पहाड़ों के लिए राहतभरी खबर, IMD ने बताई बारिश की तारीख

Published on:

Weather will remain like this in Uttarakhand till January 20

उत्तराखंड के तपते पहाड़ों में रहने वाले लोगों के लिए राहत की खबर आई है। मौसम विज्ञान विभाग (IMD) ने राज्य में जल्द ही मॉनसून को लेकर अपडेट जारी किया है। इससे प्रदेश के किसानों, बागवानों और आम नागरिकों को राहत की सांस लेने का मौका दिया है, जो लम्बे समय से भीषण गर्मी और जल संकट का सामना कर रहे थे।


मौसम विभाग के मुताबिक, उत्तराखंड में मॉनसून इस साल 20 जून के आसपास दस्तक देगा। यह खबर उन किसानों के लिए विशेष महत्व रखती है जो अपनी फसलों के लिए बारिश पर निर्भर हैं। समय पर मॉनसून आने से फसल उत्पादन में सुधार होगा और किसानों को बेहतर परिणाम मिलेंगे।
प्रदेश के अधिकांश मैदानी हिस्सों में पिछले कुछ हफ्तों से तापमान 40 डिग्री सेल्सियस के पार जा चुका है, तो पहाड़ो में पारा 30 से 35 डिग्री के पार जा रहा है। नतीजतन जल स्रोत सूखने लगे है और कई इलाकों में पेयजल की किल्लत हो गई है। ऐसे में मॉनसून की बारिश ना केवल तापमान को कम करेगी बल्कि जल स्रोतों को भी पुनः भर देगी, जिससे पेयजल की समस्या से भी निजात मिलेगी।
देहरादून, नैनीताल,अल्मोड़ा,हल्द्वानी, मसूरी और हरिद्वार जैसे प्रमुख शहरों में भीषण गर्मी का प्रभाव स्पष्ट रूप से देखा जा रहा है।


मौसम विशेषज्ञों के अनुसार, इस वर्ष मॉनसून सामान्य से अधिक सक्रिय रहेगा और पर्याप्त बारिश होगी। इससे जलाशयों और नदियों में जल स्तर बढ़ेगा और बाढ़ जैसी आपदाओं की संभावना भी कम होगी। हालांकि, बारिश के साथ-साथ संभावित भूस्खलन और अन्य प्राकृतिक आपदाओं के प्रति भी सतर्क रहने की आवश्यकता होगी।


उत्तराखंड के मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार मॉनसून से संबंधित किसी भी आपात स्थिति से निपटने के लिए पूरी तरह तैयार है। उन्होंने किसानों से अपील की कि वे बारिश के पानी का सही उपयोग करें और अपनी फसलों की सुरक्षा सुनिश्चित करें।


उत्तराखंड में मॉनसून के आगमन की इस खबर ने सभी को उत्साहित कर दिया है। अब सभी को बेसब्री से 20 जून का इंतजार है, जब मानसून की पहली बारिश से प्रदेश को तपती गर्मी से राहत मिलेगी।