Redcliffe Lab ने की पहाड़ में शुरू की ड्रोन डायग्नोस्टिक सर्विस,महज 90 मिनट में उत्तरकाशी से देहरादून पहुंच गया सैंपल

Newsdesk Uttranews
2 Min Read

Redcliffe Lab ने पहाड़ ड्रोन डायग्नोस्टिक सर्विस शुरू कर दी है। बीते 6 दिसंबर को डायग्नोस्टिक सर्विस के ड्रोन के इस ट्रायल ने उत्तरकाशी से देहरादून सैंपल पहुंचा दिया। उत्तरकाशी कलेक्शन सेंटर से सैंपल को देहरादून पहुंचने में रेडक्लिफ लैब्स को महज 90 मिनट ही लगे। जबकि सामान्यत: मोटर मार्ग से इस दूरी को तय करने में 6 से 8 घंटे लग जाते हैं।


Redcliffe Lab का दावा है कि ड्रोन से शुरू की गयी इस सुविधा से उत्तरकाशी के लोगों को किफायती और हाई क्वालिटी डायग्नोस्टिक सेवाएं मिलेगी। कंपनी के अनुसार उत्तरकाशी में टेस्ट सैम्पल कलेक्शन के लिए रोजाना ड्रोन भेजा जाएगा।


रेडक्लिफ लैब्स (Redcliffe Lab
) के संस्थापक, धीरज जैन ने उत्तराखंड में ड्रोन से पायलट उड़ान शुरू करने के बाद कहा कि यह एक नई पहल है। कहा कि दूर दराज के उत्तरकाशी जैसे शहरों के हालात को अगर हम देखें तो दिखता है कि पहाड़ी इलाको में सीमित कनेक्टिविटी के कारण अच्छी डायग्नोस्टिक सर्विसेज सुविधा लोगो को दे पाना आसाना काम नही है। कहा कि इसे देखते हुए उत्तरकाशी स्काई हब से देहरादून स्काई हब तक ड्रोन पायलट उड़ान शुरू की गयी और इसका उद्देश्य अच्छी गुणवत्ता वाले डायग्नोस्टिक सेंटर की सुविधा पूरे राज्य में पहुंचाना है।


धीरज जैन ने कहा कि उत्तरकाशी के वाशिंदो को देहरादून लैब सर्विसेज के साथ जोड़ने के बाद से उनकी टीम बहुत उत्साहित है। कहा कि अब लोगों को टेस्ट करवाने के लिए बड़े शहरों में जाने की जरूरत नही है। कहा कि ड्रोन डिलीवरी की मदद से सैम्पल के लिए टर्नअराउंड टाइम (टीएटी) सैम्पल लेने,सैंपल लैब तक पहुंचाने, जांच करने और रिपोर्ट तैयार करने के समय को कम करते हुए एक दिन किया जा सकेगा।