Ram Singh Dhoni, freedom fighter remembered on Jayanti

अल्मोड़ा, 12 नवंबर 2020- सालम समिति की ओर से प्रख्यात स्वत्त्रता सेनानी व देश को जय हिन्द का नारा देने वाले स्वर्गीय रामसिंह धौनी (Ram Singh Dhoni)को 90 वीं जयन्ती पर भावपूर्ण स्मरण किया गया|

Ram Singh Dhoni


कोविड-19 के चलते इस बार यह कार्यक्रम सादगी से मनाया गया| सभी ने धारानौला में स्थित धौनी (Ram Singh Dhoni)की आदमकद मूर्ति पर माल्यार्पण कर उन्हे श्रद्धासुमन अर्पित किए|
इस मौके पर मुख्य अतिथि उपपा के अध्यक्ष पीसी तिवारी ने कहा कि देश की आजादी में सालम समिति का अहम योगदान है| कहा कि डिप्टी कलेक्टर की नौकरी छोड़ देश सेवा को चुन उन्होंने देशप्रेम का शानदार उदाहरण दिया|


कहा वर्तमान में सरकारे स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों को भुला रहीं हैं अफसरशाही हावी होती जा रही है|


उन्होंने समतामूलक समाज की स्थापना के लिए एक और संघर्ष की जरूरत जताई| इस मौके पर पूर्व स्वास्थ निदेशक डा. जेसी दुर्गापाल,चन्द्रमणी भट्ट,कार्यकारी अध्यक्ष भगीरथ पांडे,राजेन्द्र सिंह रावत, अमरनाथ सिंह रजवार, गोविंद लाल वर्मा, एसएस पथनी,लोकमणी भट्ट आदि मौजूद थे|

राम सिंह धौनी(Ram Singh Dhoni,) ट्रस्ट ने भी दी श्रद्धांजलि

स्वतंत्रता संग्राम सेनानी राम सिंह धौनी को राम सिंह धौनी ट्रस्ट ने याद कर भावपूर्ण श्रद्धांजलि अर्पित की। ट्रस्ट से जुड़े लोगों ने सिकुड़ा बैंड स्थित राम सिंह धौनी पार्क में उनकी प्रतिमा पर पुष्प अर्पित कर श्रद्धासुमन अर्पित कर उन्हें महान स्वतंत्रता संग्राम सेनानी बताया।

इस मौके पर ट्रस्ट के कार्यकारी अध्यक्ष आंनद सिंह ऐरी ने कहा कि धौनी एक महान देश भक्त थे। उन्होंने देश के विभिन्न स्थानों में घूमकर लोगों में आजादी की अलख जगाई थी। उन्होंने कहा कि उनका बलिदान संघर्ष और त्याग को अविस्मरणीय है। उन्हें क्षेत्र का प्रथम स्वतंत्रता संग्रामी सेनानी होने का गौरव हासिल है। वक्ताओं ने कहा कि सालम क्षेत्र में समेत धौनी ने विभिन्न प्रांतों राजस्थान, महाराष्ट्र, उत्तर प्रदेश, समेत देश के विभिन्न हिस्सों में आजादी की अलख जगाई थी। वक्ताओं ने उनके आजादी संघर्ष में उनके बलिदान को याद कर उनके बताया मार्ग पर चलने का संकल्प लिया।

इससे पहले उनके पौत्र भूपेंद्र नेगी और ट्रस्ट के अन्य सदस्यों ने दीप जलाकर कार्यक्रम का शुभारंभ किया। इस मौके पर अध्यक्ष आनंद सिंह ऐरी, सचिव भूपेंद्र नेगी, कोषाध्यक्ष भगवती परिहार, हर्षिता नेगी, बंसत बल्लभ तिवारी, रूप सिंह बिष्ट, हीरा सिंह बिष्ट, पंकज सिंह बिष्ट, दीपक कुमार, पंकज कुमार, पूरन सिंह बिष्ट, संजय नेगी, जगदीश कुमार, समेत कई लोग मौजूद रहे।