News-web

हेमकुंड साहिब के कपाट खुलने की तैयारियां जोरों पर, राज्यपाल गुरमीत सिंह ने रवाना किया श्रद्धालुओं का पहला जत्था

Published on:

हेमकुंड साहिब गुरुद्वारा के कपाट 25 मई को खुलने जा रहे हैं, और तीर्थयात्रा के लिए तैयारियां जोरों पर हैं। आज, 22 मई को, ऋषिकेश से श्रद्धालुओं का पहला जत्था हेमकुंड साहिब के लिए रवाना हुआ, जिसका नेतृत्व पंज प्यारों ने किया। राज्यपाल लेफ्टिनेंट जनरल गुरमीत सिंह ने श्रद्धालुओं को रवाना करते हुए उनके हौसले को सलाम किया।

गौरतलब हो, राज्यपाल लेफ्टिनेंट जनरल गुरमीत सिंह ने श्रद्धालुओं को रवाना करते हुए कहा, “यहां लोगों में बहुत उत्साह है। वाहेगुरु के नाम को लेकर लोगों में जो आस्था है उसे देखकर बहुत प्रसन्नता हो रही है। यह बहुत कठिन यात्रा है। मुझे बहुत खुशी है कि हम इस पल के साक्षी हैं।

एसडीएम जोशीमठ चंद्रशेखर वशिष्ठ ने गुरुद्वारा प्रबंधन और यात्रा से जुड़े अफसरों की बैठक लेकर यात्रा मार्ग पर पेयजल, बिजली, स्वास्थ्य और संचार सुविधा दुरुस्त करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने मार्ग पर घोड़े-खच्चरों के लिए गरम पानी की व्यवस्था करने को भी कहा है।

बता दें, एसडीएम ने यात्रा मार्ग पर चल रहे मास्टर प्लान के कार्यों के संबंध में भी जानकारी ली है। प्रशासन ने यह सुनिश्चित करने के लिए पूरी तैयारी कर ली है कि यात्रा के दौरान किसी भी तीर्थयात्री को परेशानी न हो।

गोविंदघाट गुरुद्वारे के वरिष्ठ प्रबंधक सरदार सेवा सिंह ने बताया कि गुरुद्वारों की साज-सज्जा का काम चल रहा है। हेमकुंड साहिब में बर्फ हटाने का काम भी लगभग पूरा हो गया है। गोविंदघाट गुरुद्वारे में इस वर्ष नए मॉडल का गेट स्थापित किया गया है। हेमकुंड साहिब की तीर्थयात्रा 25 मई से शुरू होगी। यह खबर हेमकुंड साहिब की तीर्थयात्रा की तैयारियों और राज्यपाल की ओर से श्रद्धालुओं को शुभकामनाएं देने के बारे में जानकारी देती है।