News-web

फैक्ट्री में बन रही थी ‘प्लास्टिक की चीनी! , वीडियो हुआ वायरल तो मच गया हड़कंप

पहले जमाने में लोग मीठा खाने के लिए गुड़ का इस्तेमाल करते थे। समय बदलने के साथ साथ तकनीक ने करवट ली और खान-पान में भी काफी बदलाव देखने को मिले।

वही आज के समय में लोगों का इंट्रेस्ट चीनी और रिफाइंड ऑइल में जागने लगा। हालांकि, अब ये बात किसी से छिपी नहीं है कि दोनों ही चीजें इंसान के हेल्थ के लिए काफी नुकसानदायक हैं। चीनी तो पहले से ही खाने में कम इस्तेमाल की जानी चाहिए। लेकिन अब सोशल मीडिया पर एक ऐसा वीडियो शेयर किया गया है, जिसे देखने के बाद शायद कई लोग चीनी खरीदना बंद ही कर देंगे। लेकिन हम आपको इस वीडियो की सच्चाई भी बता देते हैं। इसके बाद आपको समझ आएगा कि सोशल मीडिया पर दिखने वाली हर चीज पर यकीन नहीं किया जा सकता है। एक बार फिर गलत जानकारी के साथ वीडियो शेयर किया गया और लोगों को गुमराह करने की कोशिश की गई.प्लास्टिक की चीनी है या कुछ और ?


वायरल हो रहा वीडियो एक फैक्ट्री में शूट किया गया है। इसमें प्लास्टिक को पिघला कर लंबे-लंबे रेशों में बदल दिया गया। इसके बाद उन्हें कटिंग के माध्यम से चीनी सा आकार दिया गया। वीडियो में दावा किया गया कई इस फैक्ट्री में प्लास्टिक की चीनी बनाई जा रही थी। वीडियो के शेयर होते ही हंगामा मच गया। जिस तरह से प्लास्टिक के चावल वाला वीडियो देख लोग घबरा गए थे, चीनी बनता देख वैसा ही महसूस करने लगे। लेकिन कुछ समझदार लोगो ने इसकी पोल खोल दी।

जब पहली नजर में इस वीडियो को देखेंगे तो आप भी यकीन मान लेंगे कि यहां प्लास्टिक की चीनी ही बनाई जा रही है। दानों का साइज और टेक्स्चर वाकई चीनी सेम ही है। लेकिन आपको बता दें कि ये सच नहीं है। दरअसल, इस वीडियो को जिस फैक्ट्री में शूट किया गया, वहां PVC ग्रैन्यूल्स बनते हैं
ये प्लास्टिक मॉल्डिंग में काम आती है। ये दिखने में चीनी जैसी ही नजर आती है
इस तरह से प्लास्टिक की चीनी बताकर वीडियो को वायरल कर दिया गया।