उत्तरा न्यूज
अभी अभी पिथौरागढ़

Pithoragarh- अविभाजित यूपी में दो बार विधायक रहे जीडी ओझा का निधन

pithoragarh-Two-time MLA GD Ojha passes away

दिवंगत गोपाल दत्त 90 वर्ष की उम्र में भी थे सक्रिय, जिले में शोक की लहर
पिथौरागढ़। डीडीहाट विधानसभा सीट से दो बार के विधायक रहे वरिष्ठ कांग्रेसी गोपाल दत्त ओझा का शुक्रवार रात निधन हो गया। उनके निधन से जिले भर में शोक की लहर है। उनका अंतिम संस्कार शुक्रवार दोपहर रामेश्वर घाट में किया गया।


90 वर्षीय दिवंगत गोपाल दत्त ओझा जिला अधिवक्ता संस्था के संरक्षक भी थे। बृहस्पतिवार और शुक्रवार की मध्य रात्रि करीब 2 बजे अंतिम सांस लेने से कुछ घंटे पहले उन्हें थोड़ी तकलीफ हुई। उन्हें शुगर और रक्तचाप की समस्या थी, लेकिन इसके बावजूद 90 वर्ष की उम्र में भी उनकी सक्रियता प्रतिदिन बनी रहती थी।

प्रतिदिन वह जिला मुख्यालय में बैंक रोड स्थित अपने आवास के आसपास के इलाके में घूमते हुए लोगों से उनका हालचाल पूछते थे और साथ ही राजनीति, समाज समेत विभिन्न मुद्दों पर बात किया करते थे। इस उम्र में भी उनकी स्मृति तरोताजा थी तथा गाहे बगाहे वह अपनी राजनीतिक सक्रियता के दौर और विधायकी के कार्यकाल के किस्से, घटनाओं और अन्य विषयों पर चर्चा किया करते थे।

nitin communication


मूल रूप से अस्कोट क्षेत्र के सिंगाली निवासी गोपाल दत्त ओझा 1967 तथा उसके बाद 1969 में अविभाजित उत्तर प्रदेश में डीडीहाट विधानसभा सीट से कांग्रेस के टिकट पर विधायक चुने गए। उसके बाद भी कांग्रेस पार्टी और समाज में उनकी सक्रियता बनी रही। वह अपने पीछे भरा पूरा परिवार छोड़ गए है।

इधर शुक्रवार सुबह उनके अंतिम दर्शनों के लिए पिथौरागढ़ विधायक चंद्रा पंत समेत अनेक वर्तमान व पूर्व जनप्रतिनिधियों और अन्य गणमान्य लोग पहुंचे।

रामेश्वर घाट में उनके अंतिम संस्कार में वरिष्ठ कांग्रेस नेता और पूर्व सांसद महेंद्र सिंह माहरा, पूर्व जिलाध्यक्ष मुकेश पंत, पूर्व नगरपालिका अध्यक्ष जगत सिंह खाती, पूर्व दर्जामंत्री महेंद्र सिंह लुंठी समेत अनेक कांग्रेसी तथा राजेंद्र चिलकोटी, राजेंद्र जोशी, उमेश जोशी, भक्तदर्शन पांडे, दिनेश अवस्थी सहित अनेकों लोग शामिल हुए।


कांग्रेस जिला कार्यालय में पूर्व विधायक जीडी ओझा के निधन पर शोक व्यक्त किया गया। कांग्रेसियों ने उनके व्यक्तित्व व कृतित्व को याद कर उन्हें श्रद्धासुमन अर्पित किये। शोक जताने वालों में पूर्व विधायक और कांग्रेस प्रदेश उपाध्यक्ष मयूख महर, कांग्रेस जिलाध्यक्ष त्रिलोक महर, यूथ कांग्रेस जिलाध्यक्ष ऋषेंद्र महर समेत अनेक कांग्रेसी शामिल हैं।

Related posts

साहित्य के शीर्ष आलोचक नामवर सिंह का निधन

Newsdesk Uttranews

Uttarakhand- प्रदेश में 15 अप्रैल से शुरू होगा नया शिक्षा सत्र (New education session)

Newsdesk Uttranews

तो अब शीतकाल में भी होगी चारधाम यात्रा ! पुराने मार्ग को खोजने के लिये 25 सदस्यीय दल रवाना

Newsdesk Uttranews
error: Content is protected !!