Panic of Leopard- Forest Department set up cage in Bagwalipokhar

द्वाराहाट सहयोगी, 10 दिसंबर 2020- बग्वालीपोखर में गुलदार की दहशत (Panic of leopard)के बीच वन विभाग ने पिंजरा लगा लोगों को तात्कालिक राहत दी है|

Panic of leopard

बुधवार को रैस्टोरैंट स्वामी को तेंदुए ने घायल करने के बाद लोगों में दहशत (Panic of leopard)को देखते हुए वन विभाग ने तत्काल कार्यवाही करते हुए घटनास्थल का निरीक्षण कर मौके पर पिंजरा लगा दिया गया है। वन विभाग के अधिकारियों ने जन दबाव के बाद गुरूवार को बग्वालीपोखर पहुंचकर घटनास्थल का जायजा लिया।

वन विभाग के अधिकारियों ने बताया की पूरे क्षेत्र में गस्त तेज कर दी गई है। तेंदुए को पकड़ने के लिए पिंजरा लगा दिया गया है। वन विभाग के कर्मचारी मुस्तैदी से पूरे क्षेत्र में नजर बनाये हुए हैं।

बताते चलें कि बुधवार को बग्वालीपोखर में मिडवे रैस्टोरैंट के मालिक मनोज पांडे को दिन दहाड़े गुलदार ने हमला कर घायल कर दिया था।

लगभग 20 से 30 सेकंड तक घायल रेस्टोरैंट मालिक तेंदुए से संघर्ष करते रहे। किसी तरह साहस का परिचय देकर अपनी जांन बचाने में सफल रहे। तेंदुए ने घायल पांडे के मुंह, नाख, पीठ आदि स्थानों पर नाखून लगाकर जख्मी कर दिया था। जिसके बाद घायल को रानीखेत अस्पताल में भर्ती किया गया।

घटना के बाद क्षेत्र में दहशत (Panic of leopard)का माहौल था| गुरूवार को मौके पर सहायक वन संरक्षक भूपाल सिंह बिष्ट एवं वन क्षेत्राधिकारी हरीश टम्टा पूरी टीम के साथ घटनास्थल पर मौजूद रहे।


वन क्षेत्राधिकारी हरीश टम्टा ने बताया कि “घटनास्थल पर पिंजरा लगा दिया गया है। विभागीय कर्मचारी पूरी स्थिती पर नजर बनाने के साथ गस्त भी तेज कर दी गई है। घायल को नियमानुसार मुवावजे देने की कार्यवाही भी की जा रही है।”

ताजा वीडियो अपडेट के लिए उत्तरा न्यूज के इस लिंक को सब्सक्राइब करें

https://www.youtube.com/channel/UCq1fYiAdV-MIt14t_l1gBIw

यदि आप उत्तरा न्यूज के हर समाचार व्हसएप पर पाना चाहते हैं तो इस लिंक को क्लिक करें

https://chat.whatsapp.com/LT795a8bL4n1mxjqg3hA7q