News-web

अब हो जाएगा इंतजार खत्म, कुछ ही घंटे के बाद देश में दस्तक देगा मानसून, जाने किन राज्यों में होगी बारिश

Published on:

India Monsoon: दक्षिण पश्चिम मानसून के केरल, अरुणाचल प्रदेश, त्रिपुरा, नगालैंड, मेघालय और मिजोरम सहित पूर्वोत्तर के अन्य राज्यों में आज ही दस्तक देने की संभावना है।

India Monsoon: दक्षिण पश्चिम मानसून पूर्वानुमान से एक दिन पहले यानी गुरुवार 30 मई को केरल तट और पूर्वोत्तर के कुछ हिस्सों में आने की संभावना है। ऐसे में कुछ ही घंटे में मानसून आने वाला है। इस दौरान कई राज्यों में बारिश होगी। मौसम विभाग ने बताया है कि बुधवार 29 मई के बाद अगले 24 घंटे में केरल दक्षिण पश्चिम मानसून के आगमन की अनुकूल परिस्थितियों बन रही हैं। मौसम कार्यालय ने 15 मई को केरल में 31 मई तक मानसून आने का अनुमान जताया था।

मानसून जल्द आने का कारण क्या है?

मौसम विभाग के अनुसार रविवार को पश्चिम बंगाल और बांग्लादेश से गुजरे चक्रवात रेमल ने मानसून के प्रवाह को बंगाल की खाड़ी की ओर खींच लिया है, जो पूर्वोत्तर में मानसून के जल्दी आने का एक कारण हो सकता है।
मौसम विभाग के आंकड़ों के अनुसार केरल में पिछले कुछ दिन से भारी बारिश हो रही है, जिसके परिणामस्वरूप मई में सामान्य से अधिक बारिश हुई है।

पूर्वोत्तर के राज्य में मानसून की तारीख क्या है?

पूर्वोत्तर के राज्य अरुणाचल प्रदेश, त्रिपुरा, नगालैंड, मेघालय, मिजोरम, मणिपुर और असम में मानसून के आगमन की सामान्य तिथि पांच जून है।

आईएमडी का कहना है कि इस अवधि के दौरान दक्षिण अरब सागर के कुछ और हसन मालदीव्स को, कोमोरिन, लक्षद्वीप के शेष हिस्सों, दक्षिण-पश्चिम और मध्य बंगाल की खाड़ी, उत्तर-पूर्वी बंगाल की खाड़ी और पूर्वोत्तर राज्यों के कुछ हिस्सों में दक्षिण-पश्चिम मानसून के आगे बढ़ने के लिए परिस्थितियां अनुकूल होती जा रही हैं।”

मौसम विभाग मानसून की घोषणा कब करता है?

आईएमडी केरल में मानसून के आगमन की घोषणा तब करता है, जब 10 मई के बाद किसी भी समय केरल के 14 केंद्रों और पड़ोसी क्षेत्रों में लगातार दो दिनों तक 2.5 मिमी या उससे अधिक वर्षा होती है, आउटगोइंग लॉन्गवेव रेडिएशन (ओएलआर) कम होता है और हवाओं की दिशा दक्षिण-पश्चिमी की ओर होती है।