Join WhatsApp

News-web

नैनीताल हाईकोर्ट स्थानांतरण,बार एसोसिएशन सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाएगी

Published on:

नैनीताल हाईकोर्ट को कुमाऊं से स्थानांतरित करने के खिलाफ हाईकोर्ट बार एसोसिएशन ने सुप्रीम कोर्ट जाने का ऐलान किया है। एसोसिएशन ने सोमवार को एक बैठक में इस संबंध में प्रस्ताव पारित किया।

गौरतलब हो, उच्च न्यायालय की मुख्य न्यायाधीश ऋतु बाहरी और न्यायमूर्ति राकेश थपलियाल की खंडपीठ ने पिछले दिनों हाईकोर्ट की पीठ को ऋषिकेश स्थानांतरित करने का मौखिक निर्देश दिया था। इस आदेश के बाद से ही बार एसोसिएशन लगातार विरोध प्रदर्शन कर रही है।

एसोसिएशन का कहना है कि हाईकोर्ट का स्थानांतरण न्यायिक व्यवस्था के लिए नुकसानदेह होगा। नैनीताल में हाईकोर्ट के लिए पर्याप्त जगह उपलब्ध है और इसका विस्तार किया जा सकता है।

बता दें, एसोसिएशन के अध्यक्ष डीसीएस रावत ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट में SLP दाखिल करने के लिए वरिष्ठ अधिवक्ताओं से राय ली जा रही है। उन्होंने कहा कि 17 मई से सुप्रीम कोर्ट में ग्रीष्मकालीन अवकाश शुरू हो रहा है। इसलिए एसोसिएशन जल्द से जल्द सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाएगी।

सोमवार को हुई बैठक में सैकड़ों अधिवक्ता मौजूद थे। बैठक में वरिष्ठ अधिवक्ता महेंद्र पाल सिंह, एमसी कांडपल, विजय भट्ट, आदित्य साह, एसआर जोशी, अंजलि भार्गव, सैयद नदीम मून, सूरज पांडे, जगदीश बिष्ट, वीरेंद्र रावत, उद्योग शुक्ला, डीके जोशी, पूरन रावत आदि शामिल थे।