सीएम के मौखिक आश्वासन पर विधायक मयूख महर का आंदोलन समाप्त, 26 जनवरी तक समस्याएं हल होने का दिया आश्वासन

उत्तरा न्यूज डेस्क
2 Min Read

पिथौरागढ़। कांग्रेस विधायक मयूख महर का आंदोलन प्रदेश सरकार के अगले वर्ष 26 जनवरी से पहले समस्याओं का समाधान करने के मौखिक आश्वासन पर फिलहाल समाप्त कर दिया गया है। हालांकि जब आंदोलन शुरू हुआ, तब पिथौरागढ़ विधायक महर ने चार स्थानीय मुद्दों को लेकर मुख्यमंत्री के लिखित आश्वासन मिलने तक आंदोलन जारी रखने की बात कही थी।

बृहस्पतिवार को कलक्ट्रेट परिसर स्थित धरना स्थल पर पार्टी कार्यकर्ताओं, समर्थकों को संबोधित तथा पत्रकारों से वार्ता करते हुए विधायक महर ने समस्याओं को लेकर मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी से हुई सकारात्मक बातचीत का जिक्र किया। उन्होंने कहा कि हम मुख्यमंत्री धामी के आश्वासन पर धरना स्थगित कर रहे हैं। मुख्यमंत्री धामी यहीं के बेटे हैं और उनका मूल पिथौरागढ़ ही है। विधायक ने कहा इसलिए जिन समस्याओं को उन्होंने उठाया है, वह मुख्यमंत्री की भी समस्याएं हैं, जिनको पूरा करने के लिए वह खुद रुचि लेंगे। गौरतलब है कि विगत 30 अक्टूबर से शुरू हुए धरना प्रदर्शन के जरिए विधायक महर ने पिथौरागढ़ से विमान सेवा सुचारू करने, नवनिर्मित बेस अस्पताल में मेडिकल स्टाफ की नियुक्ति तथा पिथौरागढ़ में यूपीएससी का परीक्षा केंद्र स्थापित करने समेत कुछ अन्य स्थानीय मांगें उठाई हैं।

वहीं इस मसले पर नजर रखने वालों का मानना है कि यदि यह आंदोलन मुख्यमंत्री को लिखित आश्वासन देने को विवश करता तो ये आगामी लोकसभा चुनावों में कांग्रेस पार्टी को अपने पक्ष में माहौल बनाने में मददगार बनता। दूसरी ओर कांग्रेस नेता और पूर्व दर्जा राज्यमंत्री महेंद्र सिंह लुंठी का कहना है कि भाजपा की डबल इंजन की सरकार के मुखिया मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी के आश्वासन पर कांग्रेस विधायक मयूख महर 11 दिवसीय धरना समाप्त किया है। लेकिन अगर 26 जनवरी से हवाई सेवा व बेस अस्पताल संचालित नहीं किया जाता है तो सभी कांग्रेसजन भाजपा के सभी वरिष्ठ नेताओं के घर के बाहर उनको जगाने के लिए कनस्तर बजाएंगे।

Joinsub_watsapp