contract engineers

मनरेगा में अप्रैल से अगस्त तक हो चुका है 7 लाख मानव कार्य दिवसों का सृजन MANREGA

देखिए संबंधित वीडियो

अल्मोड़ा,14 अगस्त 2020- मांग आधारित रोजगार योजना मनरेगा कोरोना काल में श्रम आधारित रोजगार देने में अल्मोड़ा जिला अव्वल रहा है.MANREGA

कोरोना संक्रमण के कारण तेजी से प्रवासी वापस अपने घरों को लौटे है. अब अन्य रोजगार नही होने के कारण प्रवासी मनरेगा योजना में मजदूरी कर रहे है.

MANREGA

डीडीओ केके पंत ने बताया कि इस वर्ष अल्मोड़ा जिले में 2160 नये मजदूरों ने मनरेगा योजना में नये जाँब कार्ड बनाये है. जबकि 67378 श्रमिकों ने सात लाख तीन हजार दिन मजदूरी कर ली है। जब पिछले सालों की तुलना में काफी अधिक है।
यही नहीं अब तक कुल 3758 नए कीर्य शुरु किये गये हैं. अप्रेल माह के बाद 2704 नए पंजीकरण किए गए हैं. 20 अप्रेल के बाद से ही 10 अगस्त तक 773 नए जाँब कार्ड वितरित किए गए हैं. 2160 ऩए श्रमिकों को रोजगार दिया गया है.इसमें सबसे अधिक 584 ताड़ीखेत में हैं.धौलादेवी में सबसे कम 4 ,द्वाराहाट में 17,चौखुटिया में 27,लमगड़ा में 39, ताकुला में 37, अल्मोड़ा में 294, हवालबाग में 270, स्याल्दे में 279 और सल्ट में 574 नए श्रमिकों को रोजगार मिला है. MANREGA

ताजा अपडेट के लिए हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें

https://www.youtube.com/channel/UCq1fYiAdV-MIt14t_l1gBIw