उत्तरा न्यूज
अभी अभी अल्मोड़ा

लक्ष्मेश्वर दुर्गा महोत्सव आयोजन को 8 वर्ष पूरे, इस वर्ष की तैयारियां भी पूरी

उत्तरा न्यूज की खबरें अब whatsapp पर, इस लिंक को क्लिक करें और रहें खबरों से अपडेट बिना किसी शुल्क के
Join Now

अल्मोड़ा,06 अक्टूबर 2021— नवदुर्गा समिति लक्ष्मेश्वर अल्मोड़ा की ओर से लक्ष्मेश्वर में आयोजित होने वाले दुर्गा महोत्सव को 8 वर्ष पूरे हो गए हैं। यहां कल यानि 7 अक्टूबर से प्रारम्भ होने वाले दुर्गा महोत्सव के कार्यक्रमों की सभी तैयारियां पूरी कर ली गई हैं।

nitin communication

समिति की ओर से सभी सदस्यों को विभिन्न जिम्मेदारियाँ सौंप दी हैं।
समिति के संयोजक त्रिलोचन जोशी ने बताया कि कल 7 अक्टूबर की प्रातः 9:30 बजे खूंटकुनी भॆरव मन्दिर लक्ष्मेश्वर से आयोजन स्थल लक्ष्मेश्वर महादेव मन्दिर तक ढोल दमाऊं के साथ पारम्परिक वेशभूषा में महिलाओं ऒर क्षेत्रवासियों द्वारा भव्य मंगल कलश यात्रा निकाली जायेगी।


इसके बाद आचार्य सतीश चन्द्र जोशी एंव चन्द्रशेखर जोशी द्वारा मुख्य यजमान नमित जोशी एंव विधा जोशी के हाथों गणेश पूजन, दीप पूजन,षोडस मात्रिका पूजन, पुण्यावाचन, कलश स्थापना, नवग्रह पूजन, रक्षाविधान, दुर्गा प्राण प्रतिष्ठा पूजन, शिवपूजन और दुर्गासप्तशती पाठ ऒर आरती का विधि-विधान पूर्ण आयोजन किया जायेगा। सांयकाल महिलाओं द्वारा भजन कीर्तन एंव महाआरती का आयोजन किया जायेगा।

ayushman diagnostics


समिति अध्यक्ष अमित साह मोनू ने बताया कि क्षेत्रवासियों में दुर्गामहोत्सव के आयोजन को लेकर काफी उत्साह हैं। इस वर्ष दुर्गामहोत्सव आठवें वर्ष में पंहुच गया है। सभी तैयारियाँ पूर्ण कर ली गयी हैं। सरकार की कोरोना एसओपी के तहत आयोजन किया जायेगा।


बैठक में संरक्षक हेम चन्द्र जोशी, त्रिभुवन पन्त,सचिव सुनील कर्नाटक, सलाहकार तारू पाण्डेय, दीवान बिष्ट, मनोज जोशी, हर्षवर्धन जोशी, व्यवस्थापक शेर सिंह बिष्ट ,नमित जोशी, विनय पाण्डेय, भावेश पाण्डेय, गगन पाण्डेय, हरीश जोशी, कुन्दन रॊतेला, पीयूष बॊनी, वीरेन्द्र जीना, हेमन्त पाण्डेय, विक्रम साह, दिनेश दानी, सुधीर कुमार, आदि व्यवस्थाओं में जुटे है।

Related posts

मिनी कश्मीर से देहरादून और पंतनगर के लिये हवाई सेवा शुरू

Newsdesk Uttranews

रानीखेत और भनोली के इन 2 गांवों को बनाया गया (Micro Containment Zone) माइक्रो कंटेंटमेंट जोन

Newsdesk Uttranews

जब अंग्रेजो पर भारी पड़ गए थे सल्ट के रणबांकुरे।

editor1