उत्तरा न्यूज
अभी अभी

स्मृति शेष : क्या अटल जी से सीख लेगें आज के राजनेता

purv-pradhanmantri-atal-bihari-vajpayee-ka-nidhan

रविन्द्र देवलियाल


बात 2002 की है। मैं उन दिनों पत्रकारिता का ककहरा सीख रहा था और सरोवरनगरी में कार्यालय संवाददाता के तौर पर राष्ट्रीय दैनिक हिन्दुस्तान का प्रतिनिधित्व कर रहा था। अटल बिहारी वाजपेयी जी उन दिनों देश के प्रधानमंत्री थे और वे गुजरात के कच्छ-भुज में आयी भीषण त्रासदी व भूंकप के चलते बेहद दुखी थे। उन्होंने तब इसे राष्ट्रीय त्रासदी घोषित करते हुए होली नहीं मनाने का फैसला लिया था और वे नैनीताल के एकांतवास पर आ गये थे। वे तब यहां तीन दिन के प्रवास पर ऐतिहासिक राजभवन में रहे।

अल्मोड़ा की हेमा देवी ने जीता एलईडी टीवी

इसी दौरान राजभवन में एक संवाददाता सम्मेलन का आयोजन किया गया। देश व विदेश के पत्रकार इस संवाददाता सम्मेलन को कवर करने आये थे। मैं भी तब अटल जी से रू-ब-रू हुआ। अटल जी अपनी बेबाकी के लिये जाने जाते थे। वह दिन मेरे लिये ऐतिहासिक था। उन्हीं दिनों की बात है कि अटल जी के प्रधानमंत्रित्व काल में उत्तराखंड के गठन के बाद भी भारतीय जनता पार्टी उत्तराखंड का पहला विधानसभा चुनाव हार गयी थी। कांग्रेस उत्तराखंड के इस ऐतिहासिक चुनाव को जीती थी और पं0 नारायण दत्त तिवारी राज्य के पहले निर्वाचित मुख्यमंत्री बने थे।

सीएम धामी ने किया Almora के शटलर lakshya sen को सम्मानित

nitin communication

मैंने अटल जी से पूछा कि उत्तराखंड राज्य बनाने के बाद भी आप अप्रत्याशित रूप से चुनाव हार गये। वह बतौर प्रधानमंत्री इसे केन्द्र सरकार की असफलता नहीं मानते? तो मैं जवाब सुनकर सन्न रह गया। अपनी बेबाकी के लिये जाने वाले अटल जी ने तब यह स्वीकार करने में कतई संकोच नहीं किया था कि इसके लिये केन्द्र सरकार की नीतियां भी जिम्मेदार हैं। यह उस दिन की पहली खबर थी। सभी प्रिंट व इलैक्ट्रोनिक मीडिया की हेडलाइन बनी थी। धन्य हो अटल जी! काश आज के राजनेताओं में भी ऐसी बेबाकीपन व सरलता होती। विनम्र श्रद्धांजलि।

Theme based home garden के माध्यम से दिखाएं अपनी रचनात्मकता

रविन्द्र देवलियाल नैनीताल में यूएएनआई के वरिष्ठ संवाददाता के पद पर कार्यरत हैं।

Related posts

देश को भाषण नही राशन की जरूरत (not need speech Need to ration) — गुडडू

Newsdesk Uttranews

पिथौरागढ़ डीएम पहुंचे चौदास और दारमा घाटी (Chaudas and Darma Valley)

Newsdesk Uttranews

पिथौरागढ़ – दाह संस्कार कराने गया युवक रामगंगा नदी में डूबा, खोज को अभियान जारी

Newsdesk Uttranews
error: Content is protected !!