book

inauguration of book entitled traditional medicinal system and threaten medicinal plant of Kumaon western himalaya

नैनीताल। कुमाऊँ विश्वविद्यालय, नैनीताल के कुलपति प्रो0 एन0 के0 जोशी ने कुलपति कार्यालय में पुस्तक (Book) ट्रेडिशनल मेडीसिनल सिस्टम एंड थ्रेटेन्ड मेडीसिनल प्लांन्ट्स ऑफ कुमाऊँ वेस्टर्न हिमालया, इण्डिया पुस्तक का विमोचन किया। पुस्तक में कुमाऊँ क्षेत्र की विरासत की उपचार विधियों तथा क्षेत्र के दुर्लभ औषधीय पौधों का वर्णन है।

उत्तराखण्ड की संस्कृति, परम्परा, व्यक्तिगत सोच तथा दर्शन आधारित उपचार विधि एवं 256 औषधीय पौधों का वर्णन किया गया है। 126 पृष्ठों की पुस्तक को इंदु बुक सर्विसेज प्राइवेट लिमिटेड नई दिल्ली द्वारा प्रकाशित किया गया है तथा इसकी कीमत 1995 रूपया है।

पुस्तक को डा0 दीपिका भट्ट, डा0 गिरीश चन्द्र जोशी, प्रो0 ललित तिवारी (कुमाऊँ विश्वविद्यालय, नैनीताल), नवीन चन्द्र पाण्डे द्वारा लिखा गया है। पुस्तक को वर्गीकरण शास्त्री स्व0 प्रो0 यशपाल सिंह पांगती को समर्पित किया गया है तथा इस पुस्तक का आमुख संघ लोक सेवा आयोग के सदस्य प्रो0 प्रदीप कुमार जोशी तथा कुलपति दून विश्वविद्यालय प्रो0 अजीत कर्नाटक द्वारा लिखा गया है। 256 पौधों की परम्परागत औषधीय उपयोगिता भी इस पुस्तक में वर्णित है। इस अवसर पर कुलपति ने कहा कि पुस्तकें हमें वास्तविकता से परिचित कराती है तथा ज्ञान का अभिन्न अंग है।

इस अवसर पर कुलपति को नैनीताल का चित्र भी भेट किया गया। कार्यक्रम में प्रो0 ललित तिवारी, डा0 सुचेतन शाह, डा0 विजय कुमार, डा0 सोहेल जावेद, विधान चौधरी, मदन बर्गली आदि उपस्थित रहे।