shishu-mandir

यहां महिलाएं सीख रहीं मिलेट्स कुकीज़ बनाने के गुर

उत्तरा न्यूज डेस्क
3 Min Read
Screenshot-5

new-modern
holy-ange-school

पिथौरागढ़। देवलथल में इन दिनों महिलाएं मिलेट्स (मोटे अनाजों) के उप उत्पाद तैयार करना सीख रही हैं। इसी कड़ी में ग्राम चौपाता स्थित तकनीकी संसाधन केंद्र में प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित किया गया। उत्तराखंड राज्य विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी प्रशिक्षण (यूकाॅस्ट) के सहयोग से पर्वतीय महिला कल्याण समिति इन महिलाओं को प्रशिक्षण दे रही है। प्रशिक्षण के उपरांत महिलाएं अपने उत्पादों को आफलाइन व आनलाइन मार्केट के जरिये बाजार में उतारेंगी।

gyan-vigyan

कार्यक्रम समन्वयक कुन्डल सिंह ने बताया कि संस्था पिछले चार महीनों से क्षेत्र में महिलाओं के समूह गठित करने और गठित समूहों को आर्थिक गतिविधियों से जोड़ने के लिए निरंतर कार्यशालाओं का आयोजन कर रही है। मुख्य रूप से देवलथल क्षेत्र के चौपाता, लोहाकोट व उड़ई ग्राम पंचायतों में संस्था, महिला सशक्तिकरण कार्यक्रमों का संचालन कर रही है।

देवलथल क्षेत्र में चौपाता स्थित तकनीकी संसाधन केंद्र में प्रशिक्षण का आयोजन संस्था की अध्यक्ष दुर्गा खड़ायत ने बताया कि क्षेत्र के चौपाता गांव में तकनीकी संसाधन केंद्र की स्थापना की गई है। इसमें क्षेत्र में उपलब्ध कच्चे माल को महिला समूहों के माध्यम से प्रसंस्कृत कर उप उत्पाद तैयार किए जाने हैं, जिन्हें बाजार देकर महिलाओं को स्वरोजगार से जोड़ा जाना है। केंद्र में जूस, जैम, मुरब्बा, कुकीज, मल्टीग्रेन आटा आदि वस्तुओं को तैयार करने के लिए मशीनें स्थापित की गई हैं और महिलाओं को विभिन्न विधाओं में प्रशिक्षण दिया जा रहा है। प्रशिक्षण समन्वयक हीरा सिंह मेहता ने बताया कि मिलेट्स कुकीज बनाने के लिए आयोजित प्रशिक्षण कार्यक्रम में क्षेत्र की 22 महिलाएं प्रतिभाग कर रही हैं। प्रशिक्षण सैंद्धांतिक और प्रायोगिक, दोनों विधाओं पर आधारित किया जा रहा है।

प्रशिक्षण पूर्ण होने के साथ ही प्रत्येक प्रशिक्षणार्थी महिला से मार्केट की मांग और प्रतिस्पर्धा के आधार पर नमूना कुकीज का उत्पादन कराया जाएगा और बेहतर गुणवत्ता के आधार पर उनकी पैकेजिंग कर बाजार में उतारा जाएगा।

बाजार व्यवस्था के लिए संस्था के स्तर पर‘हिमधान्या’ ब्रांड नाम का पंजीकरण कर लिया गया है और इस क्षेत्र के साथ ही जिले के अन्य ग्रामीण क्षेत्रों के उप उत्पादों को इसी ब्रांड नाम के साथ संस्था बाजार देगी। हिमधान्या ब्रांड नाम के साथ बाजार में आएंगे उत्पाद संस्थाध्यक्ष खड़ायत ने बताया कि कुकीज के बाद नेचुरल रोली (पिठ्यां), बुरांस जूस, गिलोय जूस, मिलेट्स नमकीन, अचार आदि उप उत्पादों को तैयार करने के लिए महिलाओं को प्रशिक्षित किया जाएगा।

महिला समूह चौपाता की सक्रिय कार्यकर्ता रेनू सामंत ने बताया कि संस्था की ओर से संचालित इन कार्यक्रमों से क्षेत्र की महिलाओं में पर्याप्त उत्साह है और महिलाएं स्वरोजगार को अपनाने के लिए उत्सुक हैं। इसी गांव की एक और सदस्य निर्मला सामंत ने बताया कि उन्होने मिलेट्स कुकीज बनाने में दक्षता पा ली है और वह बिस्कुट बनाने का प्रशिक्षण क्षेत्र की अन्य महिलाओं को देंगी।