News-web

यहां झोलाछाप डॉक्टर कर रहें थे डिलीवरी और ऑपरेशन, प्रशासन की टीम ने छापेमारी कर अस्पतालों को किया सील

हरिद्वार के रुड़की में स्वास्थ्य विभाग और प्रशासन की टीम द्वारा अस्पतालों में छापेमारी की गई। इस दौरान टीम ने दो अस्पतालों को सील कर दिया है। इसके अलावा चार अस्पतालों पर पचास-पचास हजार रुपए का जुर्माना भी लगाया है। टीम ने इन अस्पतालों में मरीजों का उपचार कर रहे डॉक्टरों की टीम से डिग्री दिखाने को कहा लेकिन वह कोई डिग्री नहीं दिखा पाए।रुड़की व आसपास क्षेत्र में निजी अस्पतालों की भरमार है इनमें से कुछ अस्पताल तो ऐसे है जिन डॉक्टरों के पास कोई डिग्री तक नहीं है।

वहीं शनिवार को स्वास्थ्य विभाग और प्रशासन की टीम ने ऐसे अस्पतालों पर छापेमारी की। इस मामले में रुड़की सिविल अस्पताल के सीएमएस संजय कंसल ने बताया कि उनके द्वारा बीते दिन नगर के 6 अस्पतालों का निरीक्षण किया गया था, इस दौरान लाइसेंस और चिकित्सकों की डिग्री आदि की जांच की गई थी। उन्होंने बताया कि अस्पतालों के चिकित्सक कोई डिग्री आदि नहीं दिखा पाए।

जिसके बाद उन्होंने चौबीस घंटे का समय दिया गया था।वहीं एक अस्पताल ने डिग्री और कुछ कागजात दिखाए लेकिन अन्य कोई कागजात नहीं दिखा पाए। सीएमएस संजय कंसल ने बताया कि प्रशासन को टीम द्वारा अस्पतालों में फिर से छापेमारी की गई, जहां पर बिना डिग्री वाले चिकित्सक और स्टाफ के लोग मरीज का उपचार कर रहे हैं। वहीं इसी के साथ महिलाओं की डिलीवरी और ऑपरेशन आदि भी उनके द्वारा ही किए गए हैं। ऐसे दो अस्पतालों को सील किया गया है और इन अस्पतालों में भर्ती मरीजों को सिविल अस्पताल में शिफ्ट किया गया है।

इसके साथ ही चार अस्पतालों पर पचास-पचास हजार रुपये का जुर्माना लगाया गया है। वहीं तहसीलदार रेखा आर्य ने बताया कि कार्रवाई अभी जारी है, साथ ही भविष्य में इस प्रकार की कार्रवाई लगातार जारी रहेगी।