उत्तरा न्यूज
अभी अभी उत्तराखंड हरिद्धार हरिद्वार

हरिद्वार में हेल्थ एंड वेलनेस केन्द्र की आशाओं एवं स्वास्थ्य कर्मियों की दो दिवसीय ट्रेनिंग संपन्न

खबरें अब पाए whatsapp पर
Join Now

हरिद्वार। जिला आयुर्वेदिक एवं यूनानी अधिकारी डॉ राजीव कुमार वर्मा एवं नोडल अधिकारी डॉ स्वास्तिक जैन के नेतृत्व में आयुष हेल्थ एंड वैलनेस सेंटर से संबंधित सभी आशाओं, फार्मेसिस्ट एवं अन्य स्वास्थ्य कर्मियो को ट्रेनिंग दी गई जिसमें आयुष्मान भारत के मास्टर ट्रेनर एवं आयुर्वेद अनुसंधान विशेषज्ञ डॉ अवनीश एवं उत्तराखंड आयुर्वेद विश्वविद्यालय ऋषिकुल परिसर के रोग निदान विशेषज्ञ डॉ संजय सिंह सहित अन्य विशेषज्ञों ने व्याख्यान प्रस्तुत किए।

अध्यक्षीय उद्बोधन में डॉ राजीव वर्मा ने कहा कि जिले में विकसित किए गए आयुष हेल्थ व वेलनेस केन्द्राें काे समेकित चिकित्सा केन्द्राें के रूप में विकसित किया जाना है। जिसमे आज पचास से अधिक आशाओं एवं अन्य स्वास्थ्य कर्मियों को जीवन शैली और याेग का प्रशिक्षण दिया जा रहा है। इसमें मरीजाें के साथ आमजन काे स्वस्थ जीवन और याेग से खुद काे स्वस्थ रखने पर जाेर दिया जाएगा। जिससे बीमारियाें काे नियंत्रित किया जा सके। इसके लिए मास्टर ट्रेनर और विशेषज्ञ स्वस्थ रहने के लिए जरूरी कार्याे काे लेकर प्रशिक्षित करेंगे।

डॉ अवनीश उपाध्याय ने इस योजना के अंतर्गत आशाओं एवं अन्य कर्मियों के कार्यों एवं उत्तरदायित्वों पर प्रकाश डालते हुए कहा कि गैर संचारी रोगों की पहचान के लिए स्वास्थ्य सर्वे किया जाना है। आशाओं द्वारा किए जाने वाले सर्वे में 30 से अधिक उम्र के लोगों का स्वास्थ्य सर्वे किया जाना है ताकि उनमें एनसीडी के लक्षणों का पता लगाया जा सके। इन सर्वे को आयुष्मान भारत पोर्टल पर अपलोड भी किया जाना है। डॉ उपाध्याय ने परफॉर्मेंस लिंक पेमेंट के मूल उद्देश्य, फैमिली फोल्डर, सीबैक फॉर्म भरने के तरीके, प्रकृति परीक्षण के तरीकों आदि को बेहतर रूप से समझाया।

आयुर्वेद विभाग की चिकित्साधिकारी डॉ. पूजा राय ने आयुष केन्द्र की व्यवस्था को स्पष्ट करते हुए इन केन्द्रों के माध्यम से आमजन को होने वाले लाभ के बारे में अवगत कराया और बताया कि गांव गांव में सोशल मीडिया के माध्यम से प्रचार प्रसार के लिए विशेष बल दिया साथ ही साथ मरीजों को किसी प्रकार की कोई दिक्कत ना होने पाए। चिकित्साधिकारी डॉ. मनीषा चौहान द्वारा रोगियों की पहचान, उनका उपचार और निगरानी, प्रचार-प्रसार संबंधी गतिविधियों की जानकारी दी गई। जिसमें आशा गांव में भ्रमण कर लोगों को जानकारी देगी। डायबिटीज, कैंसर, ब्लड प्रेशर आदि की जांच कराकर पोर्टल पर फीट की जाएगी।

प्रशिक्षण कार्यक्रम में नोडल अधिकारी डॉ. स्वस्तिक ने व्यक्तिगत, सामाजिक स्वच्छता, विभिन्न बीमारियों के जड़ी बूटियों द्वारा घरेलू उपचार, आशा सहयोगिनियों के उत्तरदायित्वों, स्वस्थ आहार एवं स्वस्थ जीवन शैली व योग विषय पर व्याख्यान प्रस्तुत किए।

ऋषिकुल परिसर के रोग निदान विशेषज्ञ डॉ संजय सिंह द्वारा आयुष हेल्थ एंड वेलनेस केंद्रों पर होने वाले रक्त परीक्षण की जानकारी दी और रक्त सैंपल लेने के सही तरीके और विभिन्न किट्स के माध्यम से किए जाने वाले परीक्षणों का लाइव डेमो प्रस्तुत किया। अंत में जिला आयुर्वेदिक एवं यूनानी अधिकारी डॉ राजीव कुमार वर्मा ने मास्टर ट्रेनर डॉ अवनीश उपाध्याय को स्मृति चिन्ह भेंट देकर सम्मानित किया, साथ ही डॉ उपाध्याय, डॉ संजय सिंह, डॉ स्वास्तिक सुरेश, डॉ पूजा राय डॉ मनीषा चौहान, सभी आशाओं, स्वास्थ्य कर्मियों एवं होटल स्टाफ को धन्यवाद ज्ञापित किया। प्रशिक्षण कार्यक्रम में आशाओं सहित फार्मासिस्ट नवीन नेगी, सोनल, शीला चमोली, विनय, महेन्द्र सिंह, राम मूरत आदि रहे।

Related posts

जुलाई अंत तक घोषित होगा 10वीं, 12वीं का परिणाम

Newsdesk Uttranews

क्षमतावान बालिकाओं को दिया गया आपण च्येली पुरस्कार , महिला सशक्तिकरण के संकल्प के साथ मनाया गया महिला दिवस