उत्तरा न्यूज
उत्तराखंड

आजादी का अमृत महोत्सव कार्यक्रम श्रृंखला:: पौधरोपण व खरपतवार उन्मूलन अभियान चलाया

खबरें अब पाए whatsapp पर
Join Now


 

अल्मोड़ा, 7अगस्त 2021-देश भर में आजादी की 75वीं वर्षगांठ पर चल कार्यक्रमों की श्रृंखला में पर्यावरण संस्थान में भी विविध कार्यक्रम किए गए।

गोविंद बल्लभ पंत राष्ट्रीय हिमालयी पर्यावरण संस्थान कोसी,  के निदेशक इं0 किरीट कुमार की अगुवाई में राष्ट्रीय हिमालयी अध्ययन मिशन स्टाफ ने परिसर में दो दिवसीय कार्यक्रम के तहत पहले दिन खरपतवार उन्मूलन किया और परिसर की सफाई की जबकि शुक्रवार को परिसर में ऑवले के पौधों का रोपण किया। 

इस अवसर पर स्थानीय स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों गोविंद बल्लभ पंत, राम सिंह धौनी, ब्रदीदत्त पाण्डे, हर गोविंद पंत आदि का स्मरण किया गया।

 निदेशक इंजीनियर किरीट कुमार ने कहा कि नई पीढ़ी आजादी के संघर्षों से प्रेरणा लेकर आगे बढ़े और 75 सालों से अर्जित देश की प्रगति को आगे बढ़ाते हुए वैश्विक जगत में भारत का नाम ऊॅचा करे। उन्होंने बताया कि देश के अधिकांश हिमालयी राज्यों में इस अवसर पर विभिन्न कार्यक्रम संचालित किए जा रहे हैं।

 मिशन की ओर से बीते मार्च  माह में ही केंद्र सरकार के अनुसार 75 सप्ताह के कार्यक्रमों की विस्तृत रूपरेखा तय कर ली गई थी। वर्तमान में  उत्तराखण्ड , हिमाचल प्रदेश, असम, त्रिपुरा, कश्मीर, त्रिपुरा, मिजोरम, अरूणांचल प्रदेश सहित विभिन्न राज्यों में मिशन परियोजनाओं से जुड़े संस्थान विविध कार्यक्रमों के द्वारा अमृत भारत कार्यक्रम आयोजित कर रहे हैं। उन्होंने बताया कि हिमालयी राज्यों मंे बीते मई माह से ही विभिन्न प्रतियोगिताओं, बेबीनारों, पेंटिंग, प्रतियोगिताओं, प्रशिक्षण, भ्रमण, पौधरोपण, व व्याख्यान श्रृंखलाओं के माध्यम से अमृत भारत महोत्सव मनाया जा रहा है, अनेक संस्थानों व गैर सरकारी संस्थाओं द्वारा इस सप्ताह संघन कार्यक्रम किए जा रहे है। मिशन परियोजनाओं की उपलब्धियों, नए अनुसंधानों, मॉडलों व तकनीकों को भी इन कार्यक्रमों के माध्यम जन सामान्य तक पहुंचाने के प्रयास किए जा रहे हैं। 

उन्होंने कहा कि  हम देश की अब तक की प्रगति व चुनौतियों पर मंथन करने के साथ स्थानीय स्तर पर स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों को यह कार्यक्रम समर्पित कर रहे हैं। देश आज इस मंथन में है कि, भविष्य के भारत में शासन, विकास, तकनीक, सुधार, व नीतिगत क्षेत्र में और प्रभावी प्रदर्शन का स्वरूप कैसा हो। किसान, श्रमिकों के साथ वैज्ञानिकों, तकनीशियनों को भी इस दिशा में कर्तव्यबोध से काम करना होगा।  

इस अवसर पर परिसर में एक रोज पूर्व संस्थान कर्मियों ने जंगली भांग, कालाबांसा, गाजर घास आदि का उन्मूलन किया और शुक्रवार को मिशन परिसर में पौधों का रोपण किया और जंगल मार्ग में सफाई की। इस अवसर पर पुनीत सिराड़ी, डॉ दुर्बा कश्यप, इं0 सैयद अली, पुष्कर सिंह, जगदीश चंद्र, आशीष जोशी, अरविंद टम्टा, योगेश परिहार, जगदीश जोशी, सौरभ नेगी, कमल भण्डारी, संजय कनवाल, सहित अन्य कार्मिकों ने इन कार्यक्रमों में सहयोग दिया।

Related posts

मारा गया नरभक्षी गुलदार (Leopard), दो बच्चों को बनाया था निवाला

Newsdesk Uttranews

अल्मोड़ा: गैरसैंण को स्थायी राजधानी घोषित करे सरकार, सैकड़ों की तादात में उक्रांद कार्यकर्ताओं ने निकाला जुलूस

UTTRA NEWS DESK

विज्ञान दिवस(science day) पर विद्यार्थिंयों ने दिखाई वैज्ञानिक मेधा