उत्तरा न्यूज
अभी अभी

ब्रेकिंग – दिल्ली के बॉर्डरों पर बैठे किसानों (Farmers Protest) की बड़ी जीत, प्रधानमंत्री मोदी ने किया विवादास्पद कृषि कानूनो को वापस लेने का ऐलान

PM Modi announces withdrawal of controversial agricultural laws

खबरें अब whatsapp पर
Join Now

पिछले एक वर्ष से दिल्ली के बार्डरों पर तीन कृषि कानूनो (Three Farm Laws) को वापस लिये जाने की मांग को लेकर आंदोलन (Farmers Protest) कर रहे किसानों को बड़ी जीत मिली है। प्रधानमंत्री मोदी ने तीनो विवादास्पद कृषि कानूनों को वापस लेने का ऐलान किया है। इस कदम को 2022 में पांच राज्यों में होने वाले विधानसभा चुनावों से जोड़कर देखा जा रहा है।

nitin communication


गौरतलब है कि विवादास्पद कृषि कानूनो को लेकर किसानों (Farmers Protest)
ने पिछले वर्ष 25 नवंबर से किसानों ने दिल्ली कूच का ऐलान किया था और विभिन्न बार्डरो पर उन्हे पुलिस ने रोक दिया था। किसानो के दिल्ली कूच के दौरान हरियाणा से लगे दिल्ली के समीप सिंघु बार्डर,टिकरी बार्डर, दिल्ली से लगे गाजीपुर बार्डर और ​राजस्थान हरियाणा सीमा से लगे शाहजहापुर बार्डर पर किसानो को रोक दिया गया था। इसके बाद किसानो ने बार्डर पर ही डेरा जमा लिया था और ठंड, बारिश और लू के बीच किसानो का यह आंदोलन जारी था।

udiyar restaurent
govt ad


उत्तर प्रदेश में कई योजनाओं के शिलान्यास कार्यक्रम और लोकार्पण कार्यक्रम के लिये जाने से पहले पीएम मोदी ने इन तीनो कृषि कानूनो को वापस लिये जाने का ऐलान किया। पीएम ने कहा कि “मैंने अपने पांच दशकों के कामकाज के दौरान किसानों की मुश्किलें देखी हैं, और जब देश ने उन्हे प्रधान मंत्री बनाया, तो मैंने कृषि विकास या किसानों के विकास को अत्यधिक महत्व दिया.”


PM Narendra Modi ने प्रकाश पर्व के मौके पर आज देश को संबोधित करते हुए यह बात कही। पीएम मोदी ने तीनों कृषि कानूनों (Three Farm Laws) को वापस लेने की घोषणा करते हुए कहा कि वह किसानो की समस्याओं को समझते है। और तीनो कृषि कानूनो को सरकार वापस लेने जा रही है।
प्रधानमंत्री ने कहा है कि उनकी सरकार किसानों को तीनों कृषि कानूनों के फायदे बताने में सफल रही है जिस कारण वह कानूनों को वापस ले रहे हैं। बताया कि शीतकालीन सत्र में इन कानूनों को वापस लिए जाने पर कार्यवाही की जाएगी। प्रधानमंत्री के बयान के बाद राकेश टिकैत ने कहा है कि यह आंदोलन (Farmers Protest) तुरंत समाप्त नहीं होगा।

Related posts

यांत्रिक व जैविक उपायों द्वारा कोसी नदी होगी पुनर्जीवित, राइंका नाई में ‘कोसी नदी संरक्षण एवं पुनर्जनन’ विषय पर एक दिवसीय कार्यशाला का आयोजन

UTTRA NEWS DESK

पंचायत चुनाव— प्रथम चरण के लिए मतदान कल: 197244 मतदाता करेंगे 1603 प्रत्याशियों के भाग्य का फैसला: किस ब्लाक मे कितने प्रत्याशी— जानने के लिए पढ़े पूरी खबर

Newsdesk Uttranews

सिद्धार्थ के अल्मोड़ा पहुंचने पर हुआ जोरदार स्वागत, बैडमिंटन एसोसिएशन द्वारा किया गया सम्मा​न

UTTRA NEWS DESK