shishu-mandir

दिल झकझोर देने वाली घटना,आर्थिक तंगी के चलते परिवार के 7 सदस्यों ने एक साथ कर लिया सुसाइड

उत्तरा न्यूज डेस्क
3 Min Read
Screenshot-5

आर्थिक तंगी के चलते एक ही परिवार के सात सदस्यों ने आत्महत्या कर अपनी जीवनलीला समाप्त कर ली। यह झकझोर देने वाली घटना गुजरात के सूरत की है। आर्थिक तंगी के कारण दंपत्ति,पति के मात,पिता और दंपत्ति के तीन बच्चों ने अपनी जीवनलीला समाप्त कर ली।

new-modern
gyan-vigyan

पुलिस ने बताया कि प्रथम दृष्ट्या लग रहा है कि इसमें 6 लोगों ने जहरीले पदार्थ का सेवन किया वही एक ने फांसी का फंदा लगाकर आत्महत्या कर ली। मामले की सूचना मिलते ही पुलिस के वरिष्ठ अधिकारी भी मौके पर पहुंचे और मामले की तफ्तीश में जुट गए। वही मौके से एक सुसाइड नोट मिला है , जिसमें लिखा था कि आर्थिक तंगी के चलते उन्होंने सुसाइड किया।

पालनपुर जकातनामा के समीप विद्याकुंज स्कूल के पीछे सिद्धेश्वर अपार्टमेंट में सी2 ब्लॉक के समीप मनीष सोलंकी अपने परिवार के साथ रहते थे,वह फर्नीचर और बिल्डिंग के ठेकेदार का काम करते थे। शनिवार सुबह देर तक जब उनके घर का दरवाजा नही खुला तो पड़ोसियों को चिंता हुई और पड़ोसियों ने मनीष के जानने वालों को इसकी सूचना दी। उनके जानने वालों ने इसकी सूचना तत्काल पुलिस को दी। पुलिस मौके पर पहुंची और दरवाजा खोला तो सबके होश फाख्ता हो गए। घर में मनीष सोलंकी और उसकी पत्नी रीटा सोलंकी, मनीष के पिता कनू और माता शोभना, मनीष के 3 बच्चे दीक्षा, काव्या और कुशल की लाशें पड़ी हुई थी।तो घर के अंदर 7 शव इधर उधर पड़े हुए थे। इसमें 6 सदस्यों द्वारा ज़हरीले पदार्थ का सेवन करने की प्राथमिक जानकारी मिली है। वही परिवार का एक सदस्य फांसी के फंदे पर लटका हुआ मिला।

अडाजण डीसीपी राकेश बारोट ने बताया कि इस मामले में एक सुसाइड नोट मिला है, जिसकी जांच की जा रही है । हालांकि सुसाइड नोट में किसी व्यक्ति को जिम्मेदार नहीं बताया गया है। इनका फर्नीचर के कांट्रेक्ट से संबंधित कारोबार था। उसके साथ करीब 30-40 लोग काम करते थे। सूत्रों के मुताबिक मनीष के काफी रुपये बाजार में लोगों के पास फंस गए थे। इधर दीपावली को लेकर श्रमिकों और सामान वालों को रुपये देने का लगातार दबाव बना हुआ था।