After the conclusion of Ramlila,Til patra, yagya-hawan and bhandara, apologies to the souls of the plot

अल्मोड़ा, 31 अक्टूबर 2020- श्री भुवनेश्वर महादेव रामलीला कमेटी कर्नाटक खोला, अल्मोड़ा में रामलीला सम्पन्न होने के अवसर पर आयोजित होने वाले तिलपात्र , यज्ञ-हवन एवं भंडारे के साथ ही रामलीला महोत्सव वर्ष 2020 का समापन हो गया।

IMG 20201031 WA0024

जिले में एकमात्र आयोजित पूर्ण 10 दिवसीय रामलीला के समापन अवसर पर प्रातः काल 10:00 बजे से ही भुवनेश्वर महादेव मंदिर परिसर में तिलपात्र एवं यज्ञ हवन का आयोजन किया गया जिसमें सभी कलाकारों एवं कार्यकर्ताओं ने प्रतिभाग किया । रामलीला कमेटी के संस्थापक संयोजक बिट्टू कर्नाटक ने बताया कि रामलीला महोत्सव में तिलपात्र एवं यज्ञ हवन रामलीला के पश्चात की जाने वाली एक अनिवार्य प्रक्रिया है, जिसमें रामलीला के दौरान अभिनय करने वाले कलाकारों द्वारा दिवंगत आत्माओं , जिनका वे अभिनय करते हैं, से क्षमा याचना करने एवं उनकी दिवंगत आत्मा की शांति हेतु आयोजित किया जाता है , जिसमें सभी कलाकारों का प्रतिभाग करना अनिवार्य होता है , श्री कर्नाटक ने यह भी कहा कि इस वर्ष वर्चुअल रामलीला का जो आयोजन किया गया, उस प्रयोग को भी दर्शकों ने हाथों हाथ लिया और देश विदेश के करीब 30 लाख से अधिक दर्शकों ने रामलीला का घर बैठे आनंद उठाया । इसके पश्चात सुंदरकांड और भजन आदि के कार्यक्रमों का आयोजन किया गया तत्पश्चात एक विशाल भंडारा आयोजित किया गया जिसमें सभी कलाकारों कार्यकर्ताओं पदाधिकारियों और क्षेत्रीय आम जनमानस द्वारा प्रसाद ग्रहण किया गया जिसके साथ ही रामलीला महोत्सव वर्ष 2020 का विधिवत समापन हो गया।

इस अवसर पर रामलीला कमेटी के अध्यक्ष देवेंद्र प्रसाद कर्नाटक, उपाध्यक्ष डॉक्टर करन कर्नाटक, महासचिव हेमचंद जोशी, सांस्कृतिक संयोजक राजेंद्र तिवारी, वरिष्ठ लोक कलाकार अमरनाथ नेगी, दीपक मेहता ,अमर सिंह बोरा , बिपिन जोशी ,जितेन्द्र काण्डपाल, दीप नारायण बिष्ट , गौरव कांडपाल , डॉ विद्या कर्नाटक, सीमा कर्नाटक, लवी जोशी , पूजा बगड़वाल ,सुनीता बगड़वाल, प्रकाश मेहता आदि सहित अनेक कार्यकर्ता ,पदाधिकारी और कलाकार मौजूद थे|