bandaro ka aatank
bandaro ka aatank

चौनलिया के विद्यालयों में बंदरों का राज

प्रमोद पंत

भतरोंजखान। राजकीय इंटर कालेज चौनलिया में बंदरों के आंतक के चलते विद्यालय के शिक्षक और विद्यार्थी भयभीत हो चले है। हालत यह है कि बंदरों के आतंक के चलते लोग अपने बच्चों को स्कूल में भेजने से कतराने लगे है।

राजकीय इंटर कॉलेज चौनलिया  के प्रधानाचार्य कामिल हुसैन ने विद्यालय परिसर में बंदरों के आतंक से मुक्ति  दिलाने की मांग की है। श्री हुसैन के अनुसार उनके विद्यालय में 221 छात्र छात्राएं अध्ययनरत हैं । जबकि नजदीकी राजीव नवोदय विद्यालय में भी करीब 400 छात्र छात्राएं अध्ययनरत है। लेकिन बंदरों के डर से बच्चे स्कूल आने से घबरा रहे हैं। बंदरों के काटने से बचने के लिये भागने पर कई बच्चों को गंभीर चोटें भी आई हैं और अब बच्चे स्कूल आने में आनाकानी कर रहे हैं। जिससे उनकी शिक्षा पर प्रतिकूल असर पड़ रहा है।

उच्चाधिकारियों को इसकी जानकारी के बाबत पूछे जाने पर उन्होंने बताया कि जिलाधिकारी अल्मोड़ा को भी पूर्व में पत्र भेजकर बंदरों से निजात दिलाने की मांग की गई थी।लेकिन स्थिति जस की तस बनी हुई है।