shishu-mandir

दिल्ली में अधिकारियों के तबादलों को लेकर केंद्र सरकार लाई अध्यादेश, नया प्राधिकरण बनाया

editor1
1 Min Read
fire broke out
Screenshot-5

दिल्ली। देश की राजधानी दिल्ली में अधिकारियों के तबादलों को लेकर दिल्ली सरकार और केंद्र सरकार के बीच चल रहा तकरार अभी खत्म नहीं हुआ है। सर्वोच्च अदालत सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद शुक्रवार को केंद्र सरकार दिल्ली के अधिकारियों के तबादले के लिए शुक्रवार को अध्यादेश लेकर आई है। इस अध्यादेश के जरिए दिल्ली में अधिकारियों की तैनाती, तबादलों और विजिलेंस से जुड़े मामलों के लिए राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र सिविल सर्विस प्राधिकरण बनाने का फैसला किया गया है।

new-modern
gyan-vigyan

जानकारी के अनुसार इस प्राधिकरण के पदेन अध्यक्ष मुख्यमंत्री होंगे वहीं दिल्ली के मुख्य सचिव और प्रमुख सचिव (गृह) भी इसमें शामिल होंगे। प्राधिकरण बहुमत के आधार पर फैसला लेगा। वहीं विवाद होने की स्थिति में अंतिम फैसला उप राज्यपाल का होगा।

saraswati-bal-vidya-niketan

केंद्र ने शुक्रवार देर रात जारी किए अध्यादेश में राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र अधिनियम 1991 में संशोधन करने का फैसला लिया। प्राधिकरण के दायरे में आईएएस समेत सभी ग्रुप ए अधिकारी शामिल होंगे।