News-web

सीबीएसई बोर्ड ने लिया महत्वपूर्ण फैसला, अब एक क्लास में होंगे इतने ज्यादा बच्चे, जाने सारी डिटेल

Published on:

CBSE News Update: सीबीएसई बोर्ड ने हाल ही में एक नोटिस जारी की है। इस नोटिस के अनुसार अपने स्कूलों के एक क्लास में छात्रों की मैक्सिमम संख्या लिमिट को लेकर जारी किया है।

CBSE Mid Session Admission: केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड ने जब से 12वीं और दसवीं का रिजल्ट जारी किया है तब से आए दिन नए-नए बदलाव देखने को मिल रहे हैं। अब एक नया अपडेट सामने आया है जिसमें सीबीएसई ने नाइंथ क्लास के एक क्षेत्र में मैक्सिमम बच्चों की संख्या की लिमिट बढ़ा दी है।

बोर्ड ने किसी भी क्लास में छात्रों की संख्या को लेकर एक जरूरी नोटिस अपनी आधिकारिक वेबसाइट cbse.gov.in पर जारी की है। पहले सीबीएसई बोर्ड के सभी स्कूलों की एक क्लास के किसी एक सेक्शन में छात्रों की संख्या 40 थी, जिसे अब बोर्ड ने बढ़ाकर 45 कर दी है। सीबीएसई बोर्ड ने अपने सभी स्कूलों की क्लास में प्रति सेक्शन स्टूडेंट की संख्या को 45 तक बढ़ा दिया है।

सीबीएसई बोर्ड के स्पेशल का लाभ उन छात्रों को मिलेगा जिनके माता-पिता की जॉब ट्रांसफरेबल है और उन्हें साल के किसी भी महीने में कई जगह पर नए स्कूल में दाखिला लेना पड़ता है। छात्रों को मिड सेशन एडमिशन में परेशानियां होती है, क्योंकि कई बार स्कूलों द्वारा यह कहा जाता है कि क्लास में सीट नहीं है, ऐसे में माता-पिता को अपने बच्चे का दाखिला छोटे-मोटे स्कूल में करना पड़ता है।

साथी ऐसे छात्रों को आवश्यक रिपीट कैटेगरी में आते हैं। बोल्ड के नोटिस के मुताबिक अब स्कूल अपनी क्लास के एक सेक्शन में 40 स्टूडेंट की निर्धारित सीमा से अधिक 45 छात्रों को रख सकता है। सीबीएसई बोर्ड के इस फैसला का लाभ पाने के लिए स्कूलों को संबंधित क्षेत्रीय कार्यालय में सहायक दस्तावेजों के साथ आवेदन करना होगा।