बजट 2023: एक और साल का मुफ्त राशन, 80 करोड़ गरीबों को मिलेगा फायदा, जानिए मुख्य बातें

Newsdesk Uttranews
3 Min Read

मोदी सरकार ने गरीबों के लिए ‘अंत्योदय योजना’ कल्याणकारी योजना को एक और साल तक चालू रखने का फैसला किया है। इसका मतलब है कि जिन लोगों को मदद की जरूरत है, वे मुफ्त में खाद्य सामग्री प्राप्त कर सकेंगे। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बुधवार को बजट पेश करते हुए यह बात कही।

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा नागरिकों को 2 लाख करोड़ रुपये ट्रांसफर किए जाएंगे। इनमें से छात्रों के लिए 1,000 करोड़ रुपये का छात्रवृत्ति कार्यक्रम के लिए रखा गया है। वही 50,000 करोड़ रुपये ग्रामीण रोजगार गारंटी कार्यक्रम के लिए तो 10,000 करोड़ रुपये स्वास्थ्य बीमा कार्यक्रम के लिए रखे गए है।


बजट पेश करते हुए केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने डेयरी, पशुपालन और मत्स्य पालन पर भी फोकस करने की बात कही। कहा कि इसके लिए कृषि ऋण लक्ष्य को भी बढ़ा दिया गया है और यह 20 लाख करोड़ रुपये है। वित्त मंत्री ने राष्ट्रीय डिजिटल पुस्तकालय स्थापित करने की भी घोषणा की।


आज पेश किए गए बजट 2023 में पीएमपीबीटीजी विकास मिशन शुरू करने की बात भी कही गयी है। घोषणा की गई है।पीएमपीबीटीजी विकास मिशन मुख्यत: जनजातीय समूहों की सामाजिक-आर्थिक स्थिति को सुधारने के लिए शुरू किया ज रहा है और इसके लिए बजट में 15,000 करोड़ रुपये रखे गए है।


बजट में कृषि से जुड़े स्टार्टअप्स को प्राथमिकता देने की बात कही गयी है। युवा उद्यमियों के प्रोत्साहन के लिए कृषि त्वरक कोष बनाने की बात बजट में कही गयी है। वही वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने ने यह भी कहा कि कारीगरों और शिल्पकारों के लिए पीएम विश्व कर्म कौशल सम्मान पैकेज बनाया जाएगा।


वित्त मंत्री​ निर्मला सीतारमण ने बजट पेश करते हुए प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना 4.0 को शुरू करने की घोषणा करते हुए कहा कि उन्होंने अंतरराष्ट्रीय अवसरों के लिए कौशल प्रदान करने के लिए 30 स्किल इंडिया नेशनल सेक्टर खोले जाने की घोषणा की।


बजट2023 में सार्वजनिक परिवहन रेलवे के लिए 2.40 लाख करोड़ रुपए के पूंजीगत परिव्यय की बात कही गयी है।


बजट 2023 में अगले 3 साल 730 एकलव्य आवासीय विद्यालयों के लिए 38,000 शिक्षकों आज पेश हुए बजट 2023 में वरिष्ठ नागरिक खाता स्कीम की सीमा को बढ़ा दिया गया है। इसे पहले की सीमा 4.5 लाख से 9 लाख रूपये कर​ दिया गया है।