bansidhar bhagat k teesre charan ka bhrman 22 se

यहां देखें वीडियो

हल्द्वानी, 05 जनवरी 2021-

भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष बंशीधर (Banshidhar Bhagat) भगत उस समय विवादों में आ गए जब उन्होंने भाजपा के एक कार्यक्रम में नेता प्रतिपक्ष इंदिरा हृदयेश (indira hridayesh) पर अशोभनीय टिप्पणी कर दी।

भगत नैनीताल जिले के भीमताल विधानसभा में भाजपा के कार्यकर्ता संवाद में बोल रहे थे। दरअसल भाजपा प्रदेश अध्यक्ष कांग्रेस की वरिष्ठ नेता और उत्तराखंड विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष इंदिरा हृदयेश (indira hridayesh) के बयान पर बात कर रहे थे। इंदिरा हृदयेश (indira hridayesh) ने ये कहा था कि कई भाजपा के विधायक उनके संपर्क में है। इसके बाद भाजपा नेता बंशीधर भगत का यह बयान सामने आया है।

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष बंशीधर भगत (Banshidhar Bhagat) द्वारा कांग्रेस विधायक और नेता प्रतिपक्ष डॉ. इंदिरा ह्रदयेश (indira hridayesh) पर आ​पत्तिजनक टिप्पणी के बाद कांग्रेस मुखर हो गई है। कांग्रेस ने भगत के इस बयान को अप्पतिजनक और अपमानजनक करार दिया है।

आपको बता दें कि भगत (Banshidhar Bhagat) ने आज कुमाऊं के भीमताल में भाजपा के एक सार्वजनिक कार्य़क्रम में उन्होंने सार्वजनिक तौर पर कहा कि ” नेता प्रतिपक्ष कह रही हैं कि भाजपा के पांच विधायक उनके संपर्क में हैं। मैं कहना चाहता हूं कि बुढ़िया (भगत के शब्द)के संपर्क में क्यों आएंगे विधायक।”

अपने भीमताल दौरे के दौरान भाजपा प्रदेश अध्यक्ष बंशीधर भगत (Banshidhar Bhagat) ने कांग्रेस की नेता प्रतिपक्ष इंदिरा हृदेश (indira hridayesh) पर अमर्यादित टिप्पणी की बंशीधर भगत ने कार्यकर्ताओं की बैठक में नेता प्रतिपक्ष के लिए कहा कि (इस बुढ़िया से कौन संपर्क करेगा) उनके इस अमर्यादित बयान की चौतरफा निंदा शुरू हो गई है

कांग्रेसियों ने फूंका बंशीधर भगत (Banshidhar Bhagat) का पुतला

हल्द्वानी में यूथ कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने भाजपा प्रदेश अध्यक्ष बंशीधर भगत (Banshidhar Bhagat) के खिलाफ जमकर नारेबाजी की और उनका पुतला दहन किया। साथ ही सार्वजनिक रूप से माफी मांगने की मांग की। नैनीताल में भी यूथ कांग्रेस ने नेता प्रतिपक्ष पर अशोभनीय टिप्पणी करने पर बंशीधर भगत का पुतला फूंका।

प्रदेश अध्यक्ष बंशीधर भगत का यह बयान सोशल मीडिया में भी तेजी से वायरल हो रहा है। जिस पर कांग्रेसी नेता कड़ी आपत्ति जता रहे हैं। बता दें कि पिछले विधान सभा चुनावों में कांग्रेस के 10 नेता कांग्रेस छोड़ बीजेपी में शामिल हो गए थे।

इन सभी ने 2017 का विधानसभा चुनाव जीता और कांग्रेस को इस चुनाव में करारी हार का सामना करना पड़ा था। पिछले दिनों नेता प्रतिपक्ष व कांग्रेस की वरिष्ठ नेता इंदिरा हृदयेश ने कई विधायकों के उनके संपर्क में होने की बात कही थी बदले में भगत (Banshidhar Bhagat) का यह बयान सामने आया है।

लेकिन इस बयान को कांग्रेस सहित अन्य लोग भी अमर्यादित बता रहे हैं। (उत्तरा न्यूज इस बयान का बिल्कुल भी समर्थन नहीं करता है, समाचार की दृष्टि से ही इस बयान को प्रकाशित किया जा रहा है ।)

इधर भाजपा प्रदेश अध्यक्ष बंशीधर भगत के द्वारा दिए गए बयान पर उत्तराखंड कांग्रेस की नेता एवं सदन में नेता प्रतिपक्ष इंदिरा हृदयेश ने कहा कि उनको इस बयान से बहुत कष्ट पहुंचा है उनका कहना है कि बेटी पढ़ाओ बेटी बचाओ और महिला सशक्तिकरण की बातें सिर्फ इनकी नारों तक सीमित है

Almora- बीजेपी ने शक्ति केन्द्रों में शुरु की कार्यशालाएं

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा को इस बयान का संज्ञान लेना चाहिए।

वही पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने भी बंशीधर भगत (Banshidhar Bhagat) के इस बयान की निंदा की है। ​हरीश रावत ने सोशल मीडिया साइट फेसबुक पर कहा किसार्वजनिक जीवन में शब्दों की गरिमा का ध्यान रखना बहुत आवश्यक है

यदि शब्द किसी महिला को संबोधित कर या महिला को इंगित कर कहे जा रहे हों, उसमें किसी भी प्रकार की चूक माफी के लायक नहीं होती है और फिर यदि जानबूझकर के आप कुछ अभद्र बात, अभद्र तरीके से कर रहे हों तो फिर ऐसे व्यक्तियों के विषय में सोचना पड़ता है कि ये लोग सार्वजनिक जीवन के लायक हैं या नहीं! श्री बंशीधर भगत जी ने अपने कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुये श्रीमती इंदिरा हृदयेश जी के विषय में जिस अमर्यादित ढंग से टिप्पणी की है, मैं उसकी निंदा करता हूं और #भाजपा की संस्कृति का यह निम्नतम स्वरूप है, शायद भाजपा भी अपने अध्यक्ष की इस टिप्पणी पर शर्मिंदा होगी।

कृपया हमारे youtube चैनल को सब्सक्राइब करें

https://www.youtube.com/channel/UCq1fYiAdV-MIt14t_l1gBIw/