Baithaki holi started in Kumaon

यहां देखें वीडियो

अल्मोड़ा, 23 दिसंबर 2020- पौष महिने के पहले रविवार से कुमांऊ में बैठकी होली (Baithaki holi)शुरु हो जाती है|

Baithaki holi

ठंड रातों में कलाकार कई रागों में होली का गायन करते है अब फागुन आने तक आपको अलग- अलग रुपों में होली देखने के मिलेगी इन रागों पर छरड़ी के बाद से ही विराम लगेगा|

आपको बता दें कि देश भर में होली का खुमार फाल्गुन मास में चढ़ता है लेकिन सांस्कृतिक नगरी अल्मोड़ा में बैठकी होलियां(Baithaki holi) पौष माह के पहले रविवार से शुरु हो जाता है. सर्द रातों में हारमोनियम, तबला और मजीरें की खनक के साथ ही होली शुरु होती है.इन दिनों होली काफी, जंगला काफी, खमाज, बहार, शहाना, देश और बिहाग रागों में गायी जाती है।

Baithaki holi

होली गायन सिर्फ बुजुर्ग ही नही करते है. इसमें युवा और बच्चे भी बढ़ चढ़ कर भागीदारी करती हैं| कई बच्चे तो सीखने के लिए होली बैठकों में पहुंचते हैं|
होली का खुमार कुमांऊ भर में फाल्गुन तक रहेगा, इसमें शिवरात्री तक विष्णुपदी होलियां आध्यात्म और भक्ति के रंग में रंगी होती है शिवरात्री के बाद श्रृंगार रस से भरी होलियां गायी जायेगी| अल्मोड़ा में रानीधारा में हुए (Baithaki holi) आयोजन में सभासद राजेन्द्र तिवारी, हरीश कांडपाल, शुगुन आदि शामिल रहे|

कितना खतरनाक, कैसे मिला कोरोना का नया स्ट्रेन, पढ़ें पूरी खबर
इधर सांस्कृतिक नगरी अल्मोड़ा में पौष माह से बैठकी होली (Baithaki holi)का आयोजन शुुरु हो गया है। नगर के संगीत प्रेमियों व होली रसिकों इस होली की परंपरा को संजाए हुए है। घरों व क्लबों में शास्त्रीय रागों पर आधारित बैठकी होली(Baithaki holi) का आयोजन शुरु कर दिया गया है।
परंपरा को कायम रखते हुए होली रसिकाें ने पौष माह के प्रथम रविवार से नंदा देवी स्थित त्रिपुरा सुंदरी नव युवक कला केंद्र में बैठकी होली का आयोजन शुरु किया। देर रात्रि तक चली इस बैठकी होली की शुरुआत ” गणपति को भज लीजे ” होली गीत से नगर के रंगकर्मी व होली गायक नंदा देवी रामलीला एवं सांस्कृतिक ग्रुप के अध्यक्ष अनिल सनवाल ने किया।

बैठक में संगीत प्रेमियों को परंपरा के अनुसार गुड़ से मुह मीठा कराया गया। उसके बाद विभिन्न होलियों का गायन कर होली गायकों ने देर रात्रि तक रंग जमाया। बैठकी होली में होली गायक जितेश त्रिपाठी ने राग काफी में “भव भंजन गुन गाऊं मै अपने राम को मनाऊं ” होली गीत प्रस्तुत किया। वहीं राग यमन में होली गायक दीप जोशी ने “मां त्रिपुरा सुंदरी मैय्या होली गीत गाकर लोगों को भाव विभोर कर दिया”। वरिष्ठ होली गायक दिनेश जोशी ने राग तिलंग में कौन गलिन गयो श्याम होली गीत गाकर सभी को झूमने को मजबूर कर दिया। देर रात्रि तक चली इस बैठक होली में तबले पर मो. अरशद, रूपेश, प्रमोद कुमार, दिनकर पांडे व शेखर सिजवाली ने संगत की। वहीं राधवेंद्र पंत, अशोक पांडे, शशि मोहन पांडे, संजय जोशी, एलके पंत, योगेश तिवारी, अनिल तिवारी, देवेश जोशी, प्रकाश त्रिपाठी ने भी होली गायन किया।

इधर पौष माह के पहले रविवार से नैनीताल में होली (Baithaki holi)कार्यक्रम की शुरुआत हो गई है|
सांस्कृतिक परम्पराओं को अक्षुण्य रखने के संकल्प के साथ नैनीताल में पौष माह के पहले रविवार से विधिवत रूप से बैठकी होली गायन का शुभारंभ किया गया।

Baithaki holi

राम सेवक सभा, शारदा संघ एवम सांस्कृतिक संस्था युगमंच की संयुक्त पहल पर रविवार को राम सेवक सभा व शारदा संघ नैनीताल में शास्त्रीय रागों पर आधारित बैठकी होली गायन के साथ इस वर्ष के होली कार्यक्रम प्रारम्भ हुए।
कार्यक्रम में वरिष्ठ होली गायक राजा साह, मोहन जोशी, नरेश चमियाल, संगीत शिक्षक सतीश पाण्डे, सहित युवा गायकों पारस जोशी, विरेंद्र आर्या आदि के गायन के साथ संगीत वादन में नवीन बेगाना, राहुल जोशी आदि ने योगदान दिया।


होली कार्यक्रम के उद्घाटन अवसर पर विशिष्ट आगंतुक पूर्व विधायक नारायण सिंह जन्तवाल, नवीन शाह, जहूर आलम, डी.के.शर्मा, डा० ललित तिवारी, मनोज शाह सहित बृजमोहन जोशी, डा० हिमांशु पाण्डे, रक्षित शाह, विमल शाह, हरीश राणा आदि द्वारा प्रतिभाग किया गया।

उत्तरा न्यूज के यूट्यूब चैनल के इस लिंक को सब्सक्राइब करें और पाएं ताजातरीन वीडियो अपडेट

https://youtube.com/channel/UCq1fYiAdV-MIt14t_l1gBIw