सावधान ! बिना पंजीकरण कराए क्लीनिक खोला तो होगी सजा

उत्तरा न्यूज डेस्क
3 Min Read

अल्मोड़ा। जनपद में बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए जागरूकता अभियान के साथ-साथ प्रसव पूर्व लिंग परीक्षण मामलो पर कड़ी कार्यवाही सुनिश्चित करनी होगी। इसके अलावा बिना पंजीकरण कराए यदि कोई चिकित्सकीय कार्य करते पाया गया तो उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी उसे 5 लाख रुपये तक का जुर्माना किया जा सकता है।


आज यह बात मुख्य विकास अधिकारी मयूर दीक्षित ने विकास भवन में आयोजित बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ की जिला टास्क फोर्स की बैठक के दौरान कही। उन्होंने कहा कि जनपद के समस्त सरकारी एवं गैर सरकारी संस्थानों में जहाॅ पर चिकित्सा सम्बन्धी प्रयोगशाला एवं अन्य कोई क्रिया-कलाप किये जाते है उनका पंजीकरण करना अनिवार्य है। शासन के दिशा निर्देशों का पालन कराये जाने हेतु उन्होंने कहा कि ऐसे समस्त संस्थानों का एक माह के भीतर आफ लाईन या आन लाईन पंजीकरण मुख्य चिकित्साधिकारी कार्यालय में सुनिश्चित कराया जाय।

उन्होंने कहा कि नैदानिक स्थापन रजिस्ट्रेशन विनियमन अधिनियम 2010 के अन्तर्गत चिकित्सकीय व्यवसाय करने वाले अपंजीकृत व्यवसायियों के विरूद्व आवश्यक कार्यवाही अमल में लायी जायेगी। बिना पंजीकरण के अगर कोई संस्थान संचालित किया जाता है तो 05 लाख तक का जुर्माना किया जायेगा। मुख्य विकास अधिकारी ने निर्देश दिये कि पीसीपीएनडीटी के तहत औचक निरीक्षण किया जाय साथ ही जहाॅ पर शिकायतें प्राप्त हो रही है उन संस्थानों पर विशेष नजर बनाये रखें।


मुख्य विकास अधिकारी ने बैठक में कहा कि न्याय पंचायत स्तर तक बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ कार्यक्रमों को बैठकों के माध्यम से सफल बनाया जाय। इसके लिए एनजीओ की सहायता भी ली जा सकती है। उन्होंने कहा कि विद्यालयों में इस तरह के जागरूकता कार्यक्रमों के साथ-साथ जिन क्षेत्रों में लिंगानुपात में बढ़ोत्तरी होती है उस क्षेत्र की आशा कार्यकत्रियों को सम्मानित किया जायेगा। कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए बेटी महोत्सव का भी आयोजन किया जायेगा जिसमें जनपद में उत्कृष्ट कार्य करने वाली महिला को सम्मानित किया जायेगा। मुख्य विकास अधिकारी ने जिला कार्यक्रम अधिकारी को इसकी एक सूक्ष्म कार्य योजना बनाने के निर्देश दिये। बैठक में आगामी कार्य योजना के बारे में विस्तृत रूप से चर्चा की गयी। इस बैठक में जिला कार्यक्रम अधिकारी पी0एस0 बृजवाल ने बताया कि बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ अभियान वर्ष 2018-19 में केन्द्र सरकार द्वारा प्रशिक्षण सहित अन्य आयोजन कराये जाने हेतु निर्देशित किया गया है।


इस बैठक में जिला शिक्षाधिकारी एच0बी0 चन्द्र, अपर मुख्य चिकित्साधिकारी डा0 सविता हंयाकी, सहायक पंचायत राज अधिकारी हरीश आर्या, उप निरीक्षक नेहा राणा, उप निरीक्षण रश्मि रानी, बाल कल्याण समिति की सदस्य नीलिमा भटट सहित अन्य लोग उपस्थित थे।