मोहन उप्रेती लोक संस्कृति कला एवं विज्ञान शोध द्वारा almora में आयोजित रचना दिवस महोत्सव कार्यक्रम के तीसरे दिन स्व. मोहन उप्रेती लोक संगीत संध्या का आयोजन किया गया।

Almora
Almora- रचना महोत्सव का तीसरा दिन- कुमांऊ व गढ़वाल की संस्कृति का संगम दिखा एक मंच पर, कई हस्तियां हुई सम्मानित 3

अल्मोड़ा, 11 फरवरी 2020- मोहन उप्रेती लोक संस्कृति कला एवं विज्ञान शोध द्वारा almora में आयोजित रचना दिवस महोत्सव कार्यक्रम के तीसरे दिन स्व. मोहन उप्रेती लोक संगीत संध्या का आयोजन किया गया।

Almora
Almora- रचना महोत्सव का तीसरा दिन- कुमांऊ व गढ़वाल की संस्कृति का संगम दिखा एक मंच पर, कई हस्तियां हुई सम्मानित 4

कार्यक्रम का विधिवत उदघाटन मुख्य अतिथि पद्मश्री डा यशोधर मठपाल, विशिष्ट अतिथि नगर पालिका अध्यक्ष प्रकाश चन्द्र जोशी व आकाशवाणी के निदेशक प्रतुल जोशी के द्वारा दीप प्रज्वलन कर किया।

Kisan andolan- उत्तराखंड की आंदोलनकारी ताकतें आंदोलन के समर्थन में चलाएंगी अभियान, गाजीपुर बार्डर पहुंचे उत्तराखंड के नेता

रैमजे इंटर काँलेज Almora में हुए कार्यक्रम का शुभारम्भ सांस्कृतिक प्रस्तुति से हुआ, कार्यक्रम में डा माधुरी बड़थ्वाल को मोहन उप्रेती लोक संस्कृति सम्मान-2020, वरिष्ठ रंगकर्मी जहूर आलम कौस्तुभ सम्मान-2020, स्व. मौलू दास को वर्ष 2008 का कौस्तुभ सम्मान प्रदान किया गया।

सुश्री मनोरमा जोशी, डा हयात रावत, डा सुवर्ण रावत व शिव दत्त पंत को समिति सम्मान-2020 से तथा जीवन जोशी, सुरेश मठपाल व हेमंती देवी कला साधक सम्मान-2020 सम्मान से सम्मानित किया। युवा प्रतिभा सम्मान से पवन पाठक- पहाड़ी को सम्मानित किया गया।

प्रसिद्ध पुरातत्वविद् व संस्था के संरक्षक डा यशोधर मठपाल, नगर पालिका अध्यक्ष प्रकाश चन्द्र जोशी व आकाशवाणी Almora के निदेशक प्रतुल जोशी ने शाल ओढ़ाकर, स्मृति चिन्ह, सम्मान पत्र, पुष्प गुच्छ व पुस्तक गुच्छ प्रदान कर सम्मानित किया।

ढोल वादक स्व मौलू दास के पुत्र अखिलेश दास व सचिन दास ने ढोल वादन प्रस्तुत किया व अन्य कई कलाकारों ने अपनी प्रस्तुति दी।

लोकगायिका कबूतरी देवी की बेटी हेमंती देवी ने लोकगीतों की प्रस्तुति से दर्शकों का मन मोह लिया। विहान सांस्कृतिक संस्था, उदयांचल पर्वतीय कला समिति आदि ने सांस्कृतिक दलों ने अपनी प्रस्तुति दी।


गाजियाबाद से आये बाल कलाकार सृजन पाण्डेय ने नाटककार ललित सिंह पोखरिया के नाटक के अंश पर एकल नाट्य प्रस्तुति दी।
सम्मानित कलाकारों ने अपने रचनाकर्म के विषय पर बोलते हुए मोहन उप्रेती जी को श्रद्धा सुमन अर्पित किए। लोकगायक शिव दत्त पंत ने कुमाउनी गीत प्रस्तुत किए, डा माधुरी बड़थ्वाल ने गढ़वाल के मांगलगीत का गायन किया। कार्यक्रम का संचालन विभू कृष्णा ने किया।


कार्यक्रम में कैलाश पंत, मीना पांडेय, किरन पंत, मीरा जोशी, शशि मोहन पाण्डे, महेन्द्र मूस्यूनी, कैलाश पाण्डेय इत्यादि समेत कई कला रसिक देर रात तक मौजूद रहे।

ताजा वीडियो अपडेट के लिए हमारे यूट्यूब चैनल के इस लिंक को सब्सक्राइब करें

https://youtube.com/channel/UCq1fYiAdV-MIt14t_l1gBIw