मोहन उप्रेती लोक संस्कृति कला एवं विज्ञान शोध समिति द्वारा अल्मोड़ा (Almora) में आयोजित सात दिवसीय रचना दिवस महोत्सव के दूसरे दिन शास्त्रीय संगीत के कार्यक्रमों की धूम रही।

अल्मोड़ा, 09 फरवरी 2021- मोहन उप्रेती लोक संस्कृति कला एवं विज्ञान शोध समिति द्वारा अल्मोड़ा (Almora)में आयोजित सात दिवसीय रचना दिवस महोत्सव के दूसरे दिन शास्त्रीय संगीत के कार्यक्रमों की धूम रही।

Almora
Almora- सांस्कृतिक रागों के नाम रहा रचना महोत्सव के दूसरे दिन का कार्यक्रम 4

पंडित चंद्रशेखर पंत व नृत्य सम्राट उदय शंकर की स्मृति में शास्त्रीय संगीत संध्या का आयोजन किया गया।

Almora
Almora- सांस्कृतिक रागों के नाम रहा रचना महोत्सव के दूसरे दिन का कार्यक्रम 5


बतौर मुख्य अतिथि प्रकाश चंद्र जोशी नगर पालिका अध्यक्ष और विशिष्ट अतिथि प्रतुल जोशी निदेशक आकाशवाणी almora ने दीप जला कर कार्यक्रम का विधिवत उद्घाटन किया।

Almora- सांस्कृतिक दिग्गजों के सम्मान के साथ शुरु हुआ रचना महोत्सव

अल्मोड़ा (Almora) के रैमजे इंटर काँलेज में हुए कार्यक्रम में बनारस के संगीतज्ञ पंडित विजय शंकर मिश्र को राष्ट्रीय स्तर पर शास्त्रीय संगीत के प्रचार प्रसार में किए गए योगदान के लिए कौस्तुभ सम्मान 2020 से तथा ध्रुपद गायक जोड़ी प्रदीप चोपड़ा आस्था चोपड़ा को युवा प्रतिभा सम्मान 2020 से, तबला वादन के लिए राजेंद्र नयाल को कला साधक सम्मान 2020 दिल्ली के रवि पाल को ख्याल गायकी के लिए युवा प्रतिभा सम्मान 2020 आभा जोशी पाठक को रचनाकार प्रोत्साहन अवार्ड से सम्मानित किया गया।

सभी सम्मानित हुए कलाकारों को मुख्य अतिथि प्रकाश जोशी व विशिष्ठ अतिथि प्रतुल जोशी ने शॉल फूल गुच्छ, स्मृति चिन्ह ,सम्मान पत्र, पुस्तक गुच्छ प्रदान कर सम्मानित किया ।

मुख्य अतिथि नगर पालिका अध्यक्ष Almora प्रकाश जोशी ने कहां की मोहन उप्रेती लोक संस्कृति कला एवं विज्ञान शोध समिति के प्रयासों से प्रत्येक वर्ष शास्त्रीय संगीत में देश के प्रतिष्ठित कलाकार यहां पर अपनी प्रस्तुति देते हैं यह हमारा सौभाग्य है । उन्होंने कहा कि संस्था के द्वारा 20 वर्षों से रचना दिवस महोत्सव के आयोजन के लिए संस्था साधुवाद की पात्र है। प्रतुल जोशी ने मोहन उप्रेती के विषय में अपने विचार प्रकट किए और उत्कृष्ट शास्त्रीय संगीत के कार्यक्रमों की सराहना की।


पंडित विजय शंकर मिश्र ने अपने संबोधन में कहा की कोरोना काल में सरकार के द्वारा सभी पक्षों के विषय में सोचा गया लेकिन कलाकारो के विषय में किसी ने भी नहीं सोचा।

उन्होंने कहा कि ‘कलाकार ने ना तो लाइन में खड़े होकर फ्री का भोजन प्राप्त किया और ना ही कहीं से सस्ता राशन या फ्री का राशन के लिए वह लाइन में लगा। उसने कोरेना काल में भी फ्री में ऑनलाइन प्रस्तुतियां दी और सकारात्मकता का माहौल बनाने में अहम भूमिका निभाई लेकिन उसके विषय में कहीं कोई सुनवाई नहीं हुई ।’


कार्यक्रम की शुरुआत ऋषिकेश से आए ध्रुपद गायक प्रदीप चोपड़ा आस्था चोपड़ा ने ध्रुपद गायन से की। उन्होंने तू ही चंद्र तू ही सूर्य….…, की स्वर लहरियों से माहौल को संगीतमय बना दिया इनके साथ युवा पखवाज वादक पंडित रमेश चंद्र जोशी ने संगत की।

हल्द्वानी से आमंत्रित कथक नृत्यांगना अंबिका रावत व नव्या सुयाल ने कथक नृत्य की प्रस्तुति से दर्शकों का मन मोह लिया। शुद्ध कथक, भजन व जुगलबंदी प्रस्तुत की। यह दोनों नृत्यांगना संस्कृति मंत्रालय भारत सरकार की छात्रवृत्ति धारक है और कत्थक की शिक्षा प्रसिद्ध कथक नृत्यांगना डॉक्टर दीपा जोशी से गुरु शिष्य परंपरा के अंतर्गत ले रही हैं।


Almora शहर के कलाकार राजेंद्र नयाल ने तबले पर एकल प्रस्तुति दी हारमोनियम पर संगत विनोद कुमार ने की। शास्त्रीय गायन बनारस घराने से आए उज्जवल मिश्र ने प्रस्तुत किया उन्होंने राग यमन में ए री आली पिया बिन…….. और भजन द्वारे नंद के नाद बजाया है भोला दर्शन को आया है ……… प्रस्तुत किया है। युवा प्रतिभा सम्मान से सम्मानित रवि पाल ने विलंबित ख्याल द्रुत तीन ताल में पिया तोरी लागी……… और मांझ खम्माज में दादरा बलमुआ कित गए सिधार ….. प्रस्तुत किया। कार्यक्रम में संस्था के अध्यक्ष हेमन्त कुमार जोशी ने सभी उपस्थित कलाकारों का आभार व्यक्त किया देर रात तक चले कार्यक्रम में कैलाश पांडे , किरन पंत , कमल पांडे , मीना पांडे, नमिता टम्टा , आभा जोशी , के• एस• , जी सी सुयाल , मनमोहन चौधरी , सुवर्ण रावत , मोहन पांडेय , मीरा जोशी सहित कई लोग मौजूद थे । कार्यक्रम का संचालन विभु कृष्णा ने किया।

रचना महोत्सव का सीधा प्रसारण उत्तरा न्यूज के फेसबुक पेज पर भी किया जा रहा है आप वहां से भी समारोह के सभी कार्यक्रमों का आनंद ले सकते हैं।

ताजा वीडियो अपडेट के लिए, हमारे youtube चैनल के इस लिंक को सब्सक्राइब व लाइक करें

https://youtube.com/channel/UCq1fYiAdV-MIt14t_l1gBIw