Almora- उत्तराखंडी लोक साहित्य की अपूर्णीय क्षति है डॉ. शेर सिंह बिष्ट (Dr. Sher Singh Bisht) का निधन: पीसी तिवारी

Newsdesk Uttranews
2 Min Read

अल्मोड़ा, 20 अप्रैल 2021- Almoraप्रोफेसर शेर सिंह बिष्ट के आकस्मिक निधन से हमने उत्तराखंडी लोक साहित्य के मर्मज्ञ विद्वान को खोया है। उत्तराखंड के ग्रामीण परिवेश में पले बढ़े लोक जीवन में रचे बसे डॉ. बिष्ट ने अपनी रचनाओं से लोक जीवन के लगभग सभी पक्षों को सामने लाने का काम किया।

यह भी पढ़े….

Almora- एसएसजे विश्वविद्यालय (SSJ University) में 10 दिवसीय राष्ट्रीय चित्रकला प्रदर्शनी, कार्यशाला एवं प्रतियोगिता 15 मार्च से

Almora- लंबित मामलों को लेकर मिनिस्ट्रीयल कर्मियों ने विस उपाध्यक्ष को सौंपा ज्ञापन

उत्तराखंड परिवर्तन पार्टी के केंद्रीय अध्यक्ष पीसी तिवारी ने कहा कि, एक ऐसे दौर में जब दुनिया में विकृत पूंजीवादी सोच के चलते साहित्य जगत को समृद्ध करने वाली लोक भाषाओं, बोलियों, विविधता के अस्तित्व ख़तरे से जूझ रही है तब समान धर्मी, साथियों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर उनका नेतृत्व करते हुए कुमाऊंनी भाषा के विभिन्न स्वरूपों, उसकी आधारभूत संरचना का सिलसिलेवार अध्ययन कर उसको वैज्ञानिक स्वरूप प्रदान करने में स्व. डॉ. शेर सिंह बिष्ट ने उल्लेखनीय कार्य किया।

डॉ. बिष्ट कुमाऊं विश्वविद्यालय में उन गिने चुने अध्यापकों में रहे, जिन्होंने अध्ययन, अध्यापन, साहित्य, शोध के क्षेत्र में कीर्तिमान स्थापित किया और प्रशासनिक दायित्वों का भी निर्वहन किया और राष्ट्रीय स्तर पर भी उत्तराखंड को गौरवान्वित करते हुए अनेक सम्मान प्राप्त किए।

तिवारी ने कहा कि सामाजिक, राजनीतिक क्षेत्र में भी हमें उनका सहयोग प्राप्त होता था। उनके निधन से आई रिक्तता की क्षति पूर्ति संभव नहीं है।

कृपया हमारे youtube चैनल को सब्सक्राइब करें

https://www.youtube.com/channel/UCq1fYiAdV-MIt14t_l1gBIw/videos