उत्तराखंड: ग्राम पंचायत विकास अधिकारी पर (embezzlement) गबन का आरोप, सस्पेंड

Newsdesk Uttranews
2 Min Read

Uttarakhand: Allegation of embezzlement on VPDO, suspended

पौड़ी, 06 नवंबर 2020
उत्तराखंड के पौड़ी जिले में एक ग्राम पंचायत विकास अधिकारी (वीपीडीओ) द्वारा 53 हजार के गबन (embezzlement)
करने का मामला सामने आया है। जिला पंचायत राज अधिकारी ने गबन व कार्यों में लापरवाही बरतने के आरोप में निलंबन आदेश जारी करते हुए उसे मुख्यालय अटैच कर दिया है।

मामला पौड़ी जिले के विकास खंड दुगड्डा का है। ग्राम पंचायत विकास अधिकारी मनीष जुयाल के पास न्याय पंचायत सिमलना, हर्षू में शामिल 8 ग्राम पंचायतों की जिम्मेदारी है।

24 जनवरी को उत्तराखंड की सीएम (CM of Uttarakhand) बनेगी हरिद्वार की बेटी सृष्टि

वीपीडीओ जुयाल पर क्षेत्र की ग्राम पंचायतों में प्रधानों को डोंगल उपलब्ध नहीं कराया जाना, ग्राम प्रधानों के पदभार संभालने संबंधी अभिलेख उपलब्ध नहीं कराए जाने, डोंगल नहीं दिए जाने से प्रधानों को मानदेय जारी नहीं हो पाने, केंद्र व राज्य वित्त की विकास योजनाओं की धनराशि बिना प्रधानों की अनुमति के निकाले जाने, पंचायतों की कैश बुक को पूर्ण नहीं किए जाने, जीपीडीपी की बैठकों में प्रतिभाग नहीं किए जाने और स्वामित्व योजना के तहत कोई भी कार्य नहीं किए जाने का आरोप है। इसके अलावा उन पर 53 हजार की वित्तीय अनियमितता (embezzlement) का आरोप है।

जिला पंचायत राज अधिकारी, पौड़ी एमएम खान ने ग्राम पंचायत विकास अधिकारी मनीष जुयाल को निलंबित करने की पुष्टि की है। खान ने बताया कि संबंधित अधिकारी को जिला मुख्यालय कार्यालय में संबद्ध किया गया है। गबन (embezzlement) की गई धनराशि को जल्द पंचायत के खाते में जमा नहीं किए जाने पर जुयाल के खिलाफ एफआईआर दर्ज की जाएगी।

अल्मोड़ा-दुग्ध संघ (dugdh sangh) ने बताया आंचल जनता दूध को पौष्टिक व स्वास्थ्यवर्द्धक

कृपया हमारे youtube चैनल को सब्सक्राइब करें

https://www.youtube.com/channel/UCq1fYiAdV-MIt14t_l1gBIw/

Joinsub_watsapp