shishu-mandir

कार चलाने का था शौक,पहले चुराई पड़ोसी की कार,तेल खत्म हुआ तो फिर चुरा दी स्कूटी,ऐसे हुआ खुलासा

Newsdesk Uttranews
5 Min Read
Screenshot-5

दो नाबालिगों को कार चलाने का बहुत शौक था लेकिन उनके परिजनों ने उनका शौक पूरा नही किया तो नाबालिगों ने अपने कार चलाने के शौक को पूरा करने के लिए ऐसा काम किया जो उनको भारी पड़ गया। मामला देहरादून का बताया जा रहा है।

new-modern
holy-ange-school


नाबालिगों ने अपने शौक को पूरा करने के लिए मारुति वैन चोरी कर ली,बाद में जब कार का तेल खत्म हुआ तो फिर स्कूटी चुरा ली। इस मामले में रायपुर थाना पुलिस ने दोनों नाबालिगों को चोरी की हुई वैन व स्कूटी के साथ गिरफ्तार किया है।

gyan-vigyan


थानाध्यक्ष रायपुर कुंदन राम द्वारा मिली जानकारी के मुताबिक बीती 15 जून ग्राम बौठा मालदेवता रायपुर निवासी भरत सिंह ने पुलिस में तहरीर देते हुए कहा कि उन्होंने अपने घर के समीप स्कूटी खड़ी की थी जोकि किसी ने चोरी कर ली है। बताया कि उनका घर धन्तु का सेरा मालदेवता के समीप है और वही स्कूटी खड़ी की थी।


तहरीर के आधार पर पुलिस ने घटनास्थल में जाकर करीब 16 सीसीटीवी कैमरे देखे। सीसीटीवी की फुटेज में पुलिस ने दोनों नाबालिग को देखा,इसके बाद पुलिस ने दोनों को मालदेवता के समीप पकड़ लिया। इनके पास से पहले चोरी की हुई स्कूटी बरामद की और बाद में उनकी निशानदेही पर चोरी की हुई वैन भी बरामद की गई।


वही मामले में पुलिस ने पूछताछ की तो नाबालिगों ने बताया कि दोनों बहुत अच्छे दोस्त है। पटेलनगर में रह रहे किशोर ने अपने पड़ोस में रह रहे व्यक्ति की वैन को पार्क में देखा, जिसके अंदर चाबी लगी हुई थी। इसके बाद किशोर ने दूसरे दोस्त को रात में वाहन चोरी के बारे में बताकर अपने घर पटेलनगर बुलाया और वाहन का शीशा तोड़कर वाहन की चाबी से गाड़ी स्टार्ट कर दी और वाहन को छुपाने के लिए पहले दूधली की तरफ ले गए।


उसके पीछे दूसरा किशोर अपनी मोटरसाइकिल लेकर गया। दूधली में वाहन छुपाने की जगह न मिलने पर वाहन को लेकर मालदेवता आए। वाहन में तेल समाप्त होने पर दोनों किशोरों ने मिलकर मालदेवता से एक स्कूटी चुराई। किशोरों ने बताया कि उनके घर वाले उन्हें कार नहीं चलाने देते, इसलिए उन्होंने पड़ोसी के वाहन को चुराकर छुपाने की योजना बनाई।

फर्जी प्रमाण पत्र बनाना पड़ा महंगा,पुलिस ने धर

हल्द्वानी में फर्जी प्रमाण पत्र बनाने का मामला सामने आया है। जिस पर पुलिस ने एक युवक को गिरफ्तार कर कोर्ट में पेश करने के बाद जेल भेज दिया है। पुलिस अधिकरियो ने बताया की आरोपी युवक द्वारा मोबाइल के माध्यम से कई फर्जी प्रमाण पत्र बनाए गए है।
पुलिस द्वारा मिली जानकारी के अनुसार कार मैकेनिक निसार निवासी इंद्रानगर को पासपोर्ट बनाना था। जिसके लिए उसने बीते वर्ष 28 नवम्बर 2022 हल्द्वानी बरेली रोड स्थित आधार कार्ड में अपनी डेट ऑफ बर्थ ठीक करवाने के लिए वह आधार कार्ड अपडेट करने के लिए संजीत नाम के व्यक्ति के पास गया। जिसके लिए संजीत ने उससे प्रमाण पत्र मांगा। निसार के पास प्रमाण पत्र नही था तो संजीत ने उससे 300 रुपये लेकर हाथों हाथ जन्म प्रमाण पत्र बनाकर दे दिया साथ ही बैंक 100 रु की फीस जमाकर आधार कार्ड अपडेट कर दिया और उसकी रशीद भी दे दी। जिसके बाद शाकिर ने जन्म प्रमाण पत्र अपने दोस्त को दिखाया तो प्रमाण पत्र पूरी तरह से गलत बना हुआ था जिस पर उसको शक हुआ और उसने तत्काल पुलिस को इसकी सूचना दी। सूचना पर पुलिस ने जांच की तो तथ्य सही पाए गए। जिस पर एसओ ने मूल निवासी ग्राम सालपुर नवदिया,थाना कटरा शहजहापुर व हाल निवासी बरेली रोड संजीत को गिरफ्तार कर लिया।
जिसके पास से एक लेपटॉप मोबाइल, कलर प्रिंटर और एक रजिस्टर बरामद किया गया। वहीं कई फर्जी प्रमाण पत्र भी आरोपी के पास से मिले है। पुलिस ने आरोपी को गिरफ़्तार करने के बाद कोर्ट में पेशी कर जेल भेज दिया है। साथ ही अन्य फर्जी प्रमाण पत्र बनाने वालों की तलाश की जा रही है।