shishu-mandir

सोबन सिंह जीना परिसर अल्मोड़ा में सांस्कृतिक कार्यक्रमों की हुई शुरुआत

editor1
2 Min Read
Screenshot-5

अल्मोड़ा। सोमवार को अल्मोड़ा स्थित सोबन सिंह जीना परिसर के सभागार में सांस्कृतिक कार्यक्रमों की शुरुआत हुई। इस तीन दिवसीय उद्भव सांस्कृतिक कार्यक्रम का उद्घाटन मुख्य अतिथि विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो जगत सिंह बिष्ट ने किया। वहीं सत्र के अध्यक्ष प्रो प्रवीण सिंह बिष्ट, विशिष्ट अतिथि गुड्डू भोज, अधिष्ठाता छात्र कल्याण प्रो इला साह, कुलसचिव प्रो इला बिष्ट, परीक्षा नियंत्रक प्रो गिरीश चन्द्र साह, सांस्कृतिक सचिव नितिन रावत आदि ने दीप जलाकर कार्यक्रमों की शुरुआत की। 12 से 14 जून,2023 तक आयोजित होने वाले इन सांस्कृतिक कार्यक्रमों के प्रथम दिवस पर कला, विज्ञान, दृश्यकला, शिक्षा, विधि संकाय की झांकियों ने दर्शकों का मन मोहा।

new-modern
gyan-vigyan

इस अवसर पर महोत्सव की संयोजक प्रो इला साह ने सभी अतिथियों का स्वागत करते हुए उद्भव सांस्कृतिक महोत्सव के संबंध में विस्तार से जानकारी दी। उन्होंने कहा कि विश्वविद्यालय के सृजन होने के उपरांत लोक संस्कृति को प्रकट करती हुई प्रस्तुतियां देखने को मिलेंगी। मुख्य अतिथि कुलपति प्रो जगत सिंह बिष्ट ने कहा विश्वविद्यालय के उद्भव सांस्कृतिक समारोह का आयोजन होना सुखद है। संस्कृति शब्द के संबंध में उन्होंने कहा कि संस्कृति किसी व्यक्ति, समाज और राष्ट्र का सम्यक दर्शन है। संस्कृति जीवन जीने का तरीका है। संस्कृति हमारे लिए महत्वपूर्ण है और यह वर्षों की जमा पूंजी है।

saraswati-bal-vidya-niketan

कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए परिसर निदेशक प्रो प्रवीण सिंह बिष्ट ने कहा कि अल्मोड़ा नगरी में हमेशा सांस्कृतिक नगरी को बढ़ावा मिला है। इस नगरी में कई कलाकार दिए हैं। यह परिसर भी रंगमंच के लिए कई कलाकारों को दे चुका है। उन्होंने अल्मोड़ा की सांस्कृतिक इतिहास को प्रस्तुत किया। उन्होंने आयोजकों को बधाई दी। इस दौरान विश्वविद्यालय के छात्र, अध्यापक और शिक्षक मौजूद रहे।