shishu-mandir

अल्मोड़ा:: राज्य‌ स्थापना दिवस (state foundation day)पर राज्य आंदोलनकारियों ने निकाला पैदल मार्च कही यह बात

editor1
3 Min Read
Screenshot-5

new-modern
gyan-vigyan

Almora:: On the state foundation day, state agitators took out a foot march and said this

saraswati-bal-vidya-niketan

अल्मोड़ा 09 नवंबर 2023- उत्तराखंड राज्य स्थापना दिवस(state foundation day) पर राज्य आंदोलनकारियों ने अल्मोड़ा में नारायण तिवारी देवाल से गांधी पार्क तक पैदल मार्च किया।


गांधी पार्क में हुई सभा में राज्य आंदोलनकारियों ने जहां राज्य स्थापना के 23 वर्ष पूर्ण होने पर राज्य वासियों को बधाई दी वहीं इस बात लिए खेद जताया कि उत्तर प्रदेश के राजनैतिक शोषण से जिस पहाड़ को बचाने के लिए राज्य निर्माण की लड़ाई यहां की जनता ने लड़ी और राज्य बनाया आज वही जनता , पहाड़ की जमीन को बचाने के लिए भू कानून बनाने, जंगली जानवरों से खेती बाड़ी और जान माल की रक्षा के लिए सरकार से गुहार लगा रही है।


सरकार होटलों, सड़कों, रथों में कृषि महोत्सव आयोजित कर रही है जनता के खेत खलिहान जंगली,आवारा जानवरों के कारण वीरान और बंजर होते जा रहे हैं बेरोजगारी के कारण पलायन और अधिक बढ़ गया है पहाड़ के गांवों में केवल वृद्ध और असहाय लोग ही केवल मजबूरी में रह रहे हैं, गांव जनशून्य होते जा रहे हैं।


सरकार राज्य आंदोलनकारियों की पैंशन बढ़ाने में जहां वित्त का रोना रो रही है वही अपने लोगों को 1975 के आपात काल में जेल बंद होने के नाम पर लोकतंत्र सेनानी घोषित कर 20-20हजार रूपये पैंशन दे रही है राज्य में सत्ता में रही पार्टियों ने जहां राजनैतिक हस्तक्षेप कर अपने अपने कार्यकर्ताओं को राज्य आंदोलनकारी चिन्हित करवाया वही राज्य के लिए वर्षो तक संघर्षरत रहे वास्तविक आंदोलनकारी चिन्हीकरण से वंचित हैं।

state foundation day
state foundation day


क्षैतिज आरक्षण के मुद्दे को लटकाये रखना भी सरकार के आंदोलनकारियों के प्रति उपेक्षापूर्ण रवैये परिलक्षित करता है इसलिए राज्य आंदोलनकारियों ने निर्णय लिया है सरकार जनविरोधी रवैये को लेकर गांव स्तर से ही आंदोलन खड़ा किया जायेगा(state foundation day)।

इस अवसर पर ब्रह्मा नन्द डालाकोटी, शिवराज बनौला, दौलत सिंह बगड्वाल,मोहन सिंह भैसोड़ा, गोपाल सिंह बनौला,तारा तिवारी, बहादुर राम, कृष्ण चन्द्र, बसंत जोशी, दिनेश शर्मा,हेम चन्द्र जोशी, डुंगर सिंह रावत, सुरेन्द्र सिंह, रवीन्द्र विष्ट, महेश पांडे, बिसंभर पेटशाली, तारादत्त भट्ट, नारायण राम, कैलाश राम, सुंदर सिंह,पूरन सिंह, नवीन डालाकोटी,राजन बल्लभ, लक्ष्मण सिंह, दीवान सिंह,पूरन बनौला, मदन राम पदम सिंह आदि उपस्थित थे।