Join WhatsApp

News-web

वैज्ञानिकों ने किया दावा, धरती पर हमारे साथ रह रहे हैं एलियन, लोगों के बीच मचा हड़कंप

Published on:

Alien On Earth : दुनिया भर के वैज्ञानिक एलियन की वास्तविकता को लेकर अब रिसर्च कर रहे हैं।कई बार तो उनके दावों पर यकीन भी नहीं होता है। अब हार्वर्ड के 2 वैज्ञानिकों का मानना है कि एलियन हमेशा से पृथ्वी पर रहे होंगे और हमारे छिपकर विकास कर रहे हैं।

वैज्ञानिकों ने अपने शोध में यह दावा किया है। बताया जा रहा है कि हमारे 80% महासागरों के नक्शे नहीं है। बताया जा रहा है की धरती पर इस कथित एलियन के लिए रहने की बहुत जगह है। यह जरूरी नहीं कि यह दूसरी दुनिया से आए हो हो सकता है यह हमारे बीच हमेशा से रह रहे हैं।

शोधकर्ताओं ने प्राचीन सभ्यताओं को बताते हुए कहा कि किसी भी अज्ञात सभ्यता के पीछे यह छिपे हो सकते हैं।
ऐसा भी हो सकता है जिसकी हम कल्पना नहीं कर सकते
वैज्ञानिकों ने कहा कि पृथ्वी के नीचे बहुत कुछ रहस्यमयी चीजें हैं। हो सकता है कि सैकड़ों मील नीचे एक और प्रजाति रह रही हो, जो हमसे मिलती-जुलती हो सकती है।

वैज्ञानिकों ने शोध में कहा, अत्याधुनिक तकनीक से लैस ये सभ्यताएं ऐसी जगह अपना बेस बनाए हुए हो सकती हैं, जिसकी हम कल्पना भी नहीं कर सकते। टीम का कहना है कि यह ज्वालामुखी के नीचे गहरे पानी के नीचे चंद्रमा के अंधेरे इलाके में लंबे समय से रह रहे हो चंद्रमा के अंधेरे वाले एरिया का अभी तक अध्ययन नहीं किया जा सका है और वहां उनकी खोज हो सकती है।

वहीं, इससे पहले रॉयल एस्ट्रोनॉमिकल सोसायटी की मासिक पत्रिका में शोधकर्ताओं ने बताया कि खगोलविदों ने ऐसे 7 तारों को पहचान की है, जिनमें रहस्यमयी ऊर्जा की जानकारी मिली है। ये तारे आकार में हमारे सूर्य के 60 प्रतिशत से 8 प्रतिशत के बीच हैं। इनसे ऊर्जा का दोहन किया जा रहा है। वैज्ञानिकों का कहना है कि आकाशगंगा से यह लोग ऊर्जा खींचकर ले जा रहे हैं।

एक सर्वे में पता चला कि 60 तारे ऐसे मिले हैं, जो किसी बड़े एलियन पावर प्लांट से घिरे हुए दिखाई दे रहे हैं। खगोलविदों का कहना है कि ये इस बात का सबूत हो सकता है कि एलियन पावर प्लांट का इस्तेमाल कर तारों से ऊर्जा ले जा रहे हैं।