सहारा इंडिया प्रमुख सुब्रत राय का निधन,मुंबई के निजी अस्पताल में ली अंतिम सांस

Newsdesk Uttranews
4 Min Read

सहारा इंडिया ग्रुप के प्रमुख सुब्रत रॉय का निधन हो गया है,वह 75 वर्ष के थे और पिछले कुछ समय से बीमार चल रहे थे। उन्होंने कल यानि मंगलवार, 14 नवंबर को रात के 10.30 बजे मुंबई के कोकिलाबेन धीरू भाई अस्पताल में अंतिम सांस ली। वह हाइपर टेंशन और डायबिटीज़ जैसी बीमारियों से जूझ रहे थे,बताया जा रहा है कि कार्डियक अरेस्ट के कारण उनकी मृत्यु हुई।


सहायरा समूह की ओर से जारी बयान में यह जानकारी दी गई। बयान में बताया गया है कि सहारा प्रमुख की ​​इसी माह 12 नवंबर तबियत बिगड़ने पर मुंबई के कोकिलाबेन धीरूभाई अंबानी अस्पताल में भर्ती कराया गया था।सहारा इंडिया ग्रुप के प्रमुख सुब्रत रॉय का शव आज यानि बुधवार को शव लखनऊ के सहारा शहर में लाया जाएगा,इसके बाद उन्हें अंतिम विदाई दी जाएंगी।


एक दौर ऐसा भी था जब कहा जाता था कि इंडियन रेलवे के बाद सहारा ग्रुप में सबसे ज्यादा लोग काम करते थे,जिनकी संख्या लगभग 12 लाख थी।फिल्मी सितारो से लेकर,राजनीतिक दलों में उनके चाहने वाले थे।एक दौर में सपा प्रमुख मुलायम सिंह यादव के करीबी लोगों में उन्हें शुमार किया जाता था।


सुब्रत रॉय ने बैंकिंग सेवा से वंचित लाखों ग्रामीणों और गरीबों को सहारा ग्रुप के माध्यम से बैंकिग से जोड़ा और सहारा ग्रुप को खड़ा किया। बाद में सेबी के सहारा ग्रुप पर कार्रवाही करने से उनका साम्राज्य दरकने लगा। हुआ यह कि सेबी को पता चला कि सहारा ग्रुप ने रियल एस्टेट में निवेश के नाम पर तीन करोड़ से ज्यादा निवेशकों से करीब 24 हजार करोड़ रुपये इकत्रित किए थे।इसके बाद शुरू होती है सहारा के पतन की शुरूवात। सेबी से विवाद के बीच वर्ष 2013 में सहारा ग्रुप ने तीन करोड़ से ज्यादा आवेदन फार्म और दो करोड़ से ज्यादा रिडेम्पशन वाउचर से भरे 127 ट्रक भेजे थे। सेबी ने अदालत में सहारा प्रमुख राय से 10 हजार करोड़ रूपये की बकाया धनराशि निवेशको को लौटाने को कहा,जिसमें वह असफल रहे। नतीजतन सहारा प्रमुख सुब्रत रॉय को 4 मार्च 2014 को अदालत ने जेल भेज दिया गया। अदालत ने कहा था कि जब तक सहारा प्रमुख 5 हजार करोड़ रुपये नगद और 5 हजार करोड़ रुपये की बैंक गारंटी अदालत को नहीं देंगे, तब तक उन्हें जमानत नही दी जाएंगी।


सहारा प्रमुख दरो साल से ज्यादा समय तक जेल में रहें,बाद में 2016 में वह पैरोल बाहर आ सके। हालांकि बाद में प्रॉपर्टी विवाद के एक अन्य मामले में देश की सर्वोच्च अदालत ने उन्हें फिर से जेल भेज दिया था। एक समय में सुब्रत रॉय एक एयरलाइन,एक फॉर्मूला वन टीम,एक आईपीएल क्रिकेट टीम के मालिक होने के साथ उनके लंदन और न्यूयॉर्क में आलीशान होटल हुआ करते थे। लेकिन आर्थिक हालत खस्ता होने पर एयर सहारा नामक एयरलाइन कंपनी जेट एयरवेज को बेच दी थी,हालांकि जेट एयरवेज की सेवा बाद में बंद हो गई थी।

adbanner