News-web

गर्मियों में बढ़ रहा है हार्ट अटैक का रिस्क,ऐसे रखें अपने दिल का ख्याल

Published on:

heart attack

जैसे-जैसे गर्मी के मौसम में तापमान बढ़ता है,वैसे-वैसे दिल के दौरे का खतरा भी बढ़ता है। अधिक गर्मी हृदय पर अतिरिक्त तनाव डाल सकती है, जिससे हृदय संबंधी परेशानियों में वृद्धि हो सकती है। इस मौसम में अपने दिल की सुरक्षा कैसे करें, यह समझना अच्छे स्वास्थ्य को बनाए रखने के लिए महत्वपूर्ण है। गर्मी के महीनों के दौरान अपने दिल की देखभाल करने में मदद के लिए यहां कुछ आवश्यक सुझाव दिए गए हैं।


अधिक तापमान के कारण शरीर को सामान्य तापमान बनाए रखने के लिए अधिक मेहनत करनी पड़ सकती है। यह अतिरिक्त प्रयास हृदय प्रणाली पर दबाव डाल सकता है, विशेष रूप से पहले से मौजूद हृदय रोग वाले व्यक्तियों में। गर्मियों के दौरान निर्जलीकरण, गर्मी से थकावट और हीटस्ट्रोक आम हैं और ये हृदय संबंधी समस्याओं को बढ़ा सकते हैं। इसके अलावा, अत्यधिक पसीना आने से शरीर के लिए जरूरी इलेक्ट्रोलाइट्स की समस्या होती है, जिससे हृदय पर और अधिक प्रभाव पड़ता है।


आपके हृदय की सुरक्षा के लिए टिप्स
हाइड्रेटेड रहना: गर्मियों में डिहाइड्रेशन एक बड़ी चिंता का विषय है। सुनिश्चित करें कि आप दिन भर में खूब पानी पियें। प्रतिदिन कम से कम 8-10 गिलास पानी पीने का लक्ष्य रखें। कैफीनयुक्त या मादक पेय पदार्थों के अत्यधिक सेवन से बचें, क्योंकि वे निर्जलीकरण का कारण बन सकते हैं। इलेक्ट्रोलाइट्स वाले पेय पदार्थों को शामिल करने से शरीर के संतुलन को बनाए रखने में भी मदद मिल सकती है।


पीक हीट आवर्स से बचें:

दिन के सबसे गर्म हिस्सों में,आमतौर पर सुबह 10 बजे से शाम 4 बजे के बीच घर के अंदर रहने की कोशिश करें। यदि आपको बाहर रहने की आवश्यकता है, तो जब भी संभव हो छाया की तलाश करें और ठंडक पाने के लिए बीच-बीच में ब्रेक लेना न भूले।
ठीक कपड़े पहनें: ढीले, हल्के रंग के और सांस लेने योग्य कपड़े पहनें। यह आपके शरीर को ठंडा रखने में मदद करता है और ज़्यादा गरम होने के जोखिम को कम करता है। चौड़ी किनारी वाली टोपी और धूप का चश्मा धूप से अतिरिक्त सुरक्षा प्रदान कर सकते हैं।


शारीरिक गतिविधि का रखे ख्याल:

स्वास्थ्य के लिए नियमित व्यायाम आवश्यक है, गर्मी का भी ध्यान रखें। दिन के ठंडे हिस्सों, जैसे सुबह जल्दी या देर शाम, के दौरान इनडोर वर्कआउट या व्यायाम का विकल्प चुनें। यदि आप अत्यधिक थकान या गर्मी महसूस करते हैं तो अपने शरीर की सुनें और भारी काम ना करें।
स्वस्थ आहार ले: फलों, सब्जियों, साबुत अनाज, दुबले प्रोटीन और स्वस्थ वसा से भरपूर संतुलित आहार का सेवन करे। उच्च जल सामग्री वाले खाद्य पदार्थ, जैसे खीरे, खरबूजे और पत्तेदार साग,आपको हाइड्रेटेड रखने में मदद कर सकते हैं। नमक का सेवन सीमित करें, क्योंकि यह रक्तचाप बढ़ा सकता है और हृदय पर दबाव डाल सकता है।


नियमित जांच:

यदि आपको दिल बीमारी की हिस्ट्री है तो अपने डॉक्टर से नियमित रूप से जांच कराएं, खासकर गर्मियों के दौरान। अगर आपको किसी भी तरह की कोई परेशानी हो रही है तो तुरंत अपने डॉक्टर से सलाह ले।


जानिए गर्मी से संबंधित बीमारी के लक्षण-
यदि आप या किसी अन्य व्यक्ति में ये लक्षण दिखाई दें तो तुरंत चिकित्सा सहायता लें। गर्मी की थकावट और हीटस्ट्रोक के लक्षणों से सावधान रहें, जैसे-
अत्यधिक पसीना आना
चक्कर आना
मतली
सिरदर्द
तेज़ दिल की धड़कन
भ्रम