Redesign of Indian handicrafts creativity -Latwal

handicrafts

अल्मोड़ा, 21 नवंबर 2020- वस्त्र मंत्रालय भारत सरकार,कार्यालय विकास आयुक्त( हस्तशिल्प द्वारा हस्तशिल्प (handicrafts)के विकास हेतु आयोजित कार्यशाला के दूसरे कार्यक्रम का शुभारंभ अल्मोडा बागेश्वर जिला सहकारी बैंक के अध्यक्ष ललित लटवाल ने किया|

उन्होंने ने प्रतिभागियों को सम्बोधित करते हुए कहा कि हस्तशिल्प भारत को पूरे विश्व मे अलग पहचान दिलाती है भारत हस्तशिल्प का सर्वोत्कृष्ट केन्द्र माना जाता है। उन्होंने कहा कि यह हस्तशिल्प भारतीय हस्तशिल्पकारों की रचनात्मकता को नया रूप प्रदान करने लगे हैं।


भारत का प्रत्येक क्षेत्र अपने विशिष्ट हस्तशिल्प पर गर्व करता है। कश्मीर की कढ़ाई वाली शालों, गलीचों, नामदार सिल्क तथा अखरोट की लकड़ी के बने उत्पाद हों या राजस्थान के बंधनी काम के वस्त्र सबकी विशिष्ट पहचान है|

handicrafts

कहा कि आंध्रप्रदेश,तमिलनाडु, केरल
मध्यप्रदेश, लखनऊ की चिकन, बनारस, असम व बंगाल भी हस्कला में सिरमौर है तो उत्तराखंड का अल्मोड़ा शहर जहां ताँबे के बर्तनों के लिए पूरे भारत मे एक अलग स्थान रखता है तो यहां के मकानों में कई गयी नक्काशियां पर्यटकों को अपनी और खिंचने का प्रयास करती है और ये सब चीजें भारत के विशिष्ट पारम्परिक सजावटी दस्तकारी के उदाहरण हैं। ये आधुनिक भारत की विरासत के भाग हैं। ये कलाएँ हजारों सालों से पीढ़ी-दर-पीढ़ी पोषित होती रही हैं और हजारों हस्तशिल्पकारों को रोजगार प्रदान करती हैं| कहा कि हस्तशिल्प(handicrafts) प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लोकल फ़ॉर वोकल के सपने को भी आगे बढ़ाती है।

ऐसे ही लोगो के जिला सहकारी बैंक मदद करने को तैयार है , समूहों के माध्यम से, व्यक्तिगत रूप से कई योजनाओं में बैंक द्वारा जीरो प्रतिशत या न्यूनतम मूल्य में लोगो को ऋण उपलब्ध कराया गया है जिससे लोग रोजगार प्राप्त कर सके और अन्य लोगो को रोजगार दे सके, कार्यक्रम को जिला सहकारी बैंक के निदेशक विनीत बिष्ट, मंजू रौतेला, मानशी जोशी, आदि लोगो ने सम्बोधित किया और श्रीमती नंदी बिष्ट ने सभी लोगो का आभार जताया ,इस दौरान प्रोजेक्ट ऑफिसर सुरेंद्र कुमार, संजय टम्टा, अमित टम्टा,नीरज तंवर,कनिष्क सिसोदिया आदि लोग उपस्थित रहे।