shishu-mandir

रामलीला(Ramlila):: कर्नाटकखोला में जटायु उद्धार प्रसंग ने मोहा मन

editor1
2 Min Read
Screenshot-5

new-modern
gyan-vigyan

Ramlila:: Jatayu salvation incident in Karnatak khola fascinated the mind

अल्मोड़ा, 21 अक्टूबर- श्री भुवनेश्वर महादेव रामलीला(Ramlila) समिति कर्नाटक खोला अल्मोड़ा में 7 वें दिन की रामलीला में जटायु उद्धार, राम-लक्ष्मण द्वारा सीता की खोज,कबंध उद्धार,शबरी प्रसंग,राम -हनुमान मिलन, किष्किन्धा प्रसंग,राम-सुग्रीव मैत्री,बाली वध के संवाद व अभिनय मुख्य आकर्षण रहे ।

Ramlila


रामलीला (Ramlila)मंचन के अभिनय व संवादों ने रामलीला मैदान में उपस्थित सैकडों दर्शकों को बांधे रखा।


राम की पात्र रश्मि काण्डपाल, लक्ष्मण-दीक्षा कर्नाटक, हनुमान-अनिल रावत, कबंध-अभिषेक नेगी, शबरी-वैष्णवी जोशी, बाली-अखिलेश थापा, सुग्रीव-सन्तोष जोशी, तारा-लता नैनवाल, जामवन्त-अमर बोरा , जटायु -तनोज कर्नाटक आदि ने जीवन्त अभिनय किया ।


राम-लक्ष्मण, शबरी,कबंध , हनुमान,बाली-सुग्रीव युद्व के सुन्दर गायन एवं कुशल अभिनय को दर्शकों ने काफी सराहा व भूरि-भूर प्रशंसा की ।


सप्तम दिवस की रामलीला (Ramlila)का शुभारम्भ मुख्य अतिथि डीसीबी अध्यक्ष ललित लटवाल तथा प्रदेश सचिव बैडमिंटन एसोसिएशन बीएस मनकोटी ने दीप जला कर किया ।


अतिथियों ने कहा कि समाज को भगवान श्री राम के जीवन चरित्र व आदर्शो से प्रेरित होकर उनके गुणों को आत्मसात करना चाहिये ।


इस अवसर पर त्रिभुवन कबडवाल,देवेन्द्र कर्नाटक, कमलेश कर्नाटक, हेम जोशी , गौरव काण्डपाल , भूपेंद्र बिष्ट , दीपक कर्नाटक, देवेन्द्र जनौटी , एसएस कपकोटी, त्रिभुवन अधिकारी, हंसा दत्त कर्नाटक, बृजेश पाण्डे ,भुवन चन्द्र पाण्डे , दिनेश मठपाल, भुवन चन्द्र कर्नाटक, जगदीश चन्द्र तिवारी ,अशरद, कमल जोशी, अनूप , रवि रौतेला , विद्या कर्नाटक, सीमा कर्नाटक ,वन्दना जोशी, आशा मेहता , रेखा जोशी ,रेखा अल्मिया ,सुनीता बगडवाल ,रजनीश कर्नाटक, प्रकाश मेहता , ललित बिष्ट, कपिल नयाल, आयुष मेहता आदि सहित सैकड़ों की संख्या में दर्शक उपस्थित रहे । कार्यक्रम का संचालन गीतांजलि पाण्डे द्वारा किया गया।