मॉ पूर्णागिरि मेले में आने वाले श्रद्धालूओं के लिए आवश्यक दिशा-निर्देश जारी

Newsdesk Uttranews
4 Min Read

[hit_count]

टनकपुर। उत्तर भारत में काली कुमाऊं के सुप्रसिद्ध माँ पूर्णागिरी मेले का शनिवार को उद्घाटन हो गया। दयानन्द सरस्वती मेला मजिस्ट्रेट/उपजिलाधिकारी टनकपुर, नरेश चन्द मेला अधिकारी/पुलिस उपाधीक्षक टनकपुर भगवत पाटनी मेला अधीकारी/अपर मुख्य अधिकारी जिला पंचायत चम्पावत द्वारा संयुक्त रूप से ठुलीगाड नामक स्थल पर मॉ पूर्णागिरि के चित्र पर दीप जलाते हुए पूजा-अर्चना कर शुभारम्भ किया गया । मॉ पूर्णागिरि मेले को सम्पन्न कराने एवं श्रद्धालूओं की यात्रा को सुगम बनाने हेतु पुलिस विभाग चम्पावत द्वारा दिशा निर्देश जारी किए गए हैं।
बताते चलें मॉ पूर्णागिरि मेले में आने वाले वाहनो की पार्किग हेतु भैरव मंदिर, ठूलीगाढ़, बूम, के पास स्थायी पार्किग बनाये गये है । जिसमें साइकिल का रू-10, दोपहिया वाहन/बाइक- 20/रू, कार का 50/रू तथा बस/ट्रैक्टर/बड़े वाहन का 150/रू शुल्क का निर्धारण किया गया है। इसके अतिरिक्त उचोलीगोठ टनकपुर के रोखड़ एवं बूम बैरियर टनकपुर से पहले रोखड़ के पास तथा थाना बनबसा में शारदा बैराज के पास अस्थायी पार्किग की व्यवस्था की गयी है। पार्किग में वाहनों हेतु शुल्क निर्धारित किया गया है । यदि किसी के द्वारा निर्धारित शुल्क से अधिक शुल्क वसूला जाता है तो सम्बन्धित के खिलाफ कार्रवाई करने के निर्देश दिए गए हैं।
मेला क्षेत्र में खोये व्यक्तियों की तलाश हेतु काली मंदिर में मेला कमेटी कार्यालय में, झूठा मंदिर में जिला पंचायत मार्ग पर, भैरव मंदिर थाने पर, ठूलीगाड में थाना ठूलीगाड़ में, चौकी बूम में खोया पाया केन्द्र स्थापित किये गये हैं। यदि किसी कारणवश कोई दर्शनार्थी या छोटे बच्चे अपने परिजनो से बिछुड़ जाते है तो तत्काल उक्त खोया पाया केन्द्रो में सूचित करें । खोया पाय केन्द्र द्वारा तत्काल कार्यवाही कर तलाश की जाती है ।
टनकपुर से पूर्णागिरि मंदिर जाने हेतु ट्रैफिक का आवागमन रात्रि 11.00 बजे से 03.00 बजे तक पूर्व वर्षों की भाति बन्द रखा जायेगा । इसके अलावा शारदा बैराज, ठूलीगाड़ आदि जगहो पर स्नान करते समय सतर्कता बरतना आवश्यक है। जंगलों में जंगली जानवरो का खतरा बना रहता है अतः निर्धारित सड़क मार्ग का ही प्रयोग करें, शॉटकट मार्गो का प्रयोग ना करें।रात्रि के समय पैदल मंदिर दर्शन को जाने वाले श्रद्धालूओं से अनुरोध है कि अकेले ना जाये । जत्थो या एक साथ दर्शन को जाये । रात्रि के समय हाथी या अऩ्य जंगली जानवरों का खतरा बना रहता है । यात्रियों की सुरक्षा हेतु मेला क्षेत्र में जगह-जगह सीसीटीवी कैमरे लगाये गये है । कस्बा टनकपुर की सीमा क्षेत्र से ब्रह्मदेव नेपाल स्थित सिद्धबाबा के दर्शनों को जाने वाले श्रद्धालूओं का सायः 07.00 बजे बाद प्रवेश निषेध किया गया है । होटलों, ढ़ाबों, प्रसादि, वाहनों या पार्किग स्थल मे रेट लिस्ट लगायी गयी है । रेट लिस्ट से अधिक किराया लेने पर दिये गये नम्बरों पर शिकायत दर्ज कर सकते है ।मेला दर्शन मे किसी भी प्रकार की कोई समस्या होने पर दिये गये नम्बरों पर शिकायत कर सकते हैं।
नरेश चन्द क्षेत्राधिकारी प्रभारी मेला टनकपुर -9456593371
चन्द्र मोहन सिंह प्रभारी निरीक्षक कोतवाली टनकपुर-9411112916
जसवीर सिंह थानाध्यक्ष बनबसा-9411112917
गोविन्द बिष्ट प्रभारी चौकी शारदा बैराज-9411179444
सुरेन्द्र सिंह खड़ायत थानाध्यक्ष ठूलीगाड़-8475978788
तेज कुमार थानाध्यक्ष भैरव मंदिर -9759951006
लक्ष्मण सिंह थानाध्यक्ष कालीमंदिर-9639757851
मनोज कुमार चौकी बूम-9760763404
पुलिस कन्ट्रोल रूम-100,112, 05965230607,9411112984,18001804178 किसी भी तरह की असुविधा होने पर उक्त नंबरों पर संपर्क किया जा सकता है।

Joinsub_watsapp