News-web

मेडिकल कॉलेज में एडमिशन मिलता है इन शर्तों पर, जाने रिजल्ट से लेकर एडमिशन तक की सारी प्रक्रिया और नियम

Published on:

NEET UG 2024, Medical College Admission Process: देश के फेमस मेडिकल कॉलेज में प्रवेश पाने के लिए नीट जैसी टफ एग्जाम को पास करना बेहद जरूरी होता है। नीट यूजी परीक्षा 2024 के नतीजे सामने आ गए हैं और इस साल 50% से भी ज्यादा स्टूडेंट्स ने यह एग्जाम क्लियर कर लिया है। रैंक और कट ऑफ के आधार पर उम्मीदवार मेडिकल कॉलेज में एडमिशन ले सकते हैं।

अगर आपने इस साल यह परीक्षा दी है और मेरिट लिस्ट में आपका नाम है तो जानिए आगे आपको क्या करना होगा।नीट रिजल्ट जारी होने के बाद अब एडमिशन होने तक का पूरा प्रोसेस क्या है?

नीट रिजल्ट जारी होने के बाद एनटीए द्वारा कैटगरी वाइज कटऑफ निकाली जाती है। इस साल की कट ऑफ जारी हो चुकी है अगर आंकड़ों की बात की जाए तो इस साल जनरल कैटेगरी की कटऑफ में ज्यादा इजाफा हुआ है। नीट रिजल्ट आने के बाद स्टूडेंट की काउंसलिंग होती है जिसमें स्टूडेंट्स को अंकों के आधार पर सीट दी जाती है। कुछ दिनों बाद काउंसलिंग प्रक्रिया शुरू हो जाएगी  एनटीए जल्द ही काउंसलिंग शेड्यूल जारी करेगा। काउंसलिंग प्रक्रिया में हिस्सा लेने के लिए स्टूडेंट्स को पहले एनटीए की वेबसाइट पर जाकर रजिस्ट्रेशन कराना होगा।

Choice Filling: जब आपका रजिस्ट्रेशन कंप्लीट हो जाएगा उसके बाद अकाउंट में लॉगिन करने के बाद आपको चॉइस फिलिंग का ऑप्शन दिखाई देगा। यहां, आप अपने NEET UG रैंक के आधार पर उपलब्ध विकल्पों में से अपने पसंदीदा कॉलेजों और कोर्स का चयन करना होगा।

Locking Choices: एक बार जब आप अपनी चॉइस को इसमें भर देंगे तो अपनी प्राथमिकताओं को लॉक करने से पहले उनको सही से पढ़ना जरूरी है। बाद में किसी भी बदलाव से बचने के लिए तय समय सीमा से पहले अपने चयन को अंतिम रूप देना सुनिश्चित करें।

Mock Seat Allocation: उम्मीदवारों को संभावित सीट अलॉटमेंट का अंदाजा देने के लिए मेडिकल काउंसलिंग कमिटी एक मॉक सीट अलॉटमेंट प्रक्रिया आयोजित करेगा। यह कदम उम्मीदवारों को वास्तविक सीट अलॉटमेंट से पहले अपनी संभावनाओं का आकलन करने और निर्णय लेने का परमिशन देता है।

Edit Mock Seat Allocation: अगर जरूरी हो, तो उम्मीदवार मॉक सीट अलॉक्शन के बाद अपनी पसंद को एडिट या बदलाव कर सकते हैं। परिणामों के आधार पर, आप अपनी पसंदीदा सीट पाने की संभावना बढ़ाने के लिए अपनी प्राथमिकताओं को पुनर्व्यवस्थित कर सकते हैं।

Final Seat Allotment: एमसीसी भरे गए विकल्पों, नीट यूजी रैंक और संबंधित कॉलेजों में सीटों की उपलब्धता के आधार पर फाइनल सीट अलॉटमेंट करेगा। एक बार सीटें अलॉट हो जाने के बाद, उम्मीदवार अपने अलॉटमेंट लेटर डाउनलोड कर सकते हैं और नामित संस्थान में एडमिशन प्रक्रिया के साथ आगे बढ़ सकते हैं।
अलॉटमेंट लेटर के बाद कॉलेज से संपर्क करके फीस और डॉक्यूमेंट्स जमा करना, आदि प्रोसेस पूरा करना होता है।